नेपाल ने पहली बार जारी किया ई पासपोर्ट, 102 वर्षीय इतिहासकार को सौंपा

नेपाल ने पहली बार जारी किया ई पासपोर्ट, 102 वर्षीय इतिहासकार को सौंपा

विभाग ने बुधवार को एक बयान में कहा, विदेश मंत्री नारायण खड़का ने पासपोर्ट विभाग में ई-पासपोर्ट निजीकरण केंद्र का उद्घाटन किया है और 102 वर्षीय इतिहासकार सत्य मोहन जोशी को देश का पहला ई-पासपोर्ट सौंपा हैं।

नेपाल ने पहली बार ई-पासपोर्ट जारी करना शुरू किया है। विभाग ने बुधवार को एक बयान में कहा, विदेश मंत्री नारायण खड़का ने पासपोर्ट विभाग में ई-पासपोर्ट निजीकरण केंद्र का उद्घाटन किया है और 102 वर्षीय इतिहासकार सत्य मोहन जोशी को देश का पहला ई-पासपोर्ट सौंपा हैं।

रिपोर्ट के अनुसार, ई-पासपोर्ट आखिरकार मशीन-रीडएवल पासपोर्ट की जगह ले लेगा, जिन्हें नेपाल में दशकों पुराने हस्तलिखित पासपोर्ट को बदलने के लिए 2010 में पेश किया गया था।

पासपोर्ट विभाग के प्रवक्ता शरद राज अरन ने सिन्हुआ को बताया, कुछ दिनों के लिए केवल सीमित ई-पासपोर्ट जारी किए जाएंगे, क्योंकि सिस्टम अभी भी ट्रायल चरण में है।

प्रेस बयान के अनुसार, विभाग की योजना तीन सप्ताह के भीतर पूरी तरह से ई-पासपोर्ट जारी करने की है, जबकि जिला प्रशासन कार्यालय और देश के विभिन्न हिस्सों में पासपोर्ट जारी करने के लिए अधिकृत अन्य कार्यालय दिसंबर तक ई-पासपोर्ट जारी करना शुरू कर देंगे और विदेश में नेपाली राजनयिक मिशन जनवरी 2022 में ई-पासपोर्ट जारी करेंगे।

अरन ने कहा कि सभी कार्यालय ई-पासपोर्ट के साथ-साथ मशीन-रीडएवल पासपोर्ट जारी करते रहेंगे, जब तक कि केवल ई-पासपोर्ट के लिए आवश्यक बुनियादी ढांचा तैयार ना हो जाए।

साथ ही उन्होंने कहा, हमारी योजना जनवरी के अंत तक पूरी तरह से ई-पासपोर्ट व्यवस्था में जाने की है।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news