Unlock 4.0: एक से दूसरे राज्यों में आवागमन पर कोई प्रतिबंध नहीं

Unlock 4.0: एक से दूसरे राज्यों में आवागमन पर कोई प्रतिबंध नहीं

गृह मंत्रालय ने अपनी गाइडलाइन में कहा पीएचडी जैसे रिसर्च स्कॉलर्स और प्रयोगशालाओं की जरूरत वाले तकनीकी या व्यावसायिक कार्यक्रमों के परास्नातक छात्रों को भी इजाजत दी जा सकती है।

गृह मंत्रालय ने शनिवार को कहा कि अनलॉक 4.0 के दौरान व्यक्तियों और वस्तुओं के एक ही राज्य और एक राज्य से दूसरे राज्य आने जाने पर कोई प्रतिबंध नहीं होगा। यह भी कहा गया है कि इस तरह की आवाजाही के लिए कोई अलग से अनुमति/अनुमोदन या ई-परमिट की आवश्यकता नहीं होगी। गृह मंत्रालय ने एक बयान में कहा, केंद्र सरकार के पूर्व परामर्श के बिना, राज्य/केंद्रशासित प्रदेश सरकारें प्रतिबंध क्षेत्रों से बाहर किसी भी स्थानीय लॉकडाउन (राज्य/जिला/उपखंड/शहर/गांव स्तर) को नहीं लगाएंगी।

कोविड-19 प्रबंधन के लिए राष्ट्रीय निर्देशों के पालन पर जोर देते हुए मंत्रालय ने कहा कि कोविड-19 प्रबंधन के लिए राष्ट्रीय निर्देशों का पूरे देश में पालन किया जाएगा, जिसमें सामाजिक दूरी सुनिश्चित करना शामिल है।

बयान में कहा गया है, दुकानों को ग्राहकों के बीच पर्याप्त शारीरिक दूरी बनाए रखने की आवश्यकता होगी। एमएचए राष्ट्रीय निदेशरें के प्रभावी कार्यान्वयन की निगरानी करेगा। केंद्र ने आरोग्य सेतु मोबाइल एप्लिकेशन के उपयोग पर भी जोर दिया और लोगों से इसका उपयोग जारी रखने का आग्रह किया।

मंत्रालय ने संवेदनशील व्यक्तियों (65 वर्ष से अधिक आयु के लोग, किसी बीमारी से ग्रसित लोग, गर्भवती महिलाएं और 10 वर्ष से कम उम्र के बच्चे) को अगर आवश्यक कार्य नहीं है तो घर पर ही रहने की सलाह दी है।

उधर, अनलॉक-4 में भी स्कूल और कॉलेज बंद रहेंगे, जबकि कंटेनमेंट जोन से बाहर कक्षा 9 से 12 के छात्र स्वेच्छा से शिक्षकों से गाइडेंस लेने के लिए अपने स्कूल जा स्कते हैं। गृह मंत्रालय की गाइडलाइन में यह जानकारी दी गई। छात्र ऐसा अभिभावक की लिखित सहमति से कर सकते हैं।

गृह मंत्रालय ने अपनी गाइडलाइन में यह भी कहा 'पीएचडी जैसे रिसर्च स्कॉलर्स और प्रयोगशालाओं की जरूरत वाले तकनीकी या व्यावसायिक कार्यक्रमों के परास्नातक छात्रों को भी इजाजत दी जा सकती है। लेकिन इसकी इजाजत उच्च शिक्षा विभाग के गृह मंत्रालय के साथ संपर्क के बाद ही दी जाएगी। साथ ही राज्यों और केंद्रशासित प्रदेशों में कोविड-19 के मामलों को देखते हुए भी यह निर्णय लिया जाएगा।' वहीं, कंटेनमेंट जोन में लॉकडाउन 30 सितंबर तक सख्ती से लागू रहेगा।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news