Online मोड में होंगे दिल्ली के नर्सरी एडमिशन

Online मोड में होंगे दिल्ली के नर्सरी एडमिशन

दिल्ली में नर्सरी सहित अन्य कक्षाओं के लिए प्रवेश प्रक्रिया शुरू की जाएंगी। पिछले लगभग 11 महीने से छोटी कक्षाओं के लिए दिल्ली के सभी स्कूल बंद हैं। दिल्ली सरकार का शिक्षा मंत्रालय अब इन स्कूलों में प्रवेश प्रक्रिया के लिए एक समाधान देगा।

दिल्ली में नर्सरी सहित अन्य कक्षाओं के लिए प्रवेश प्रक्रिया शुरू की जाएंगी। पिछले लगभग 11 महीने से छोटी कक्षाओं के लिए दिल्ली के सभी स्कूल बंद हैं। दिल्ली सरकार का शिक्षा मंत्रालय अब इन स्कूलों में प्रवेश प्रक्रिया के लिए एक समाधान देगा।

लाखों छात्र और उनके माता-पिता नर्सरी और अन्य कक्षाओं में प्रवेश के लिए इंतजार कर रहे हैं। दिल्ली के प्राईवेट स्कूलों में इस वर्ष होने वाले नर्सरी एडमिशन पूरी तरह से ऑनलाइन होंगे। स्कूलों का फॉर्म ऑनलाइन ही डाउनलोड किया जाएगा।

ऑनलाइन ही स्कूलों में दाखिले के लिए आवेदन जमा किए जाएंगे। स्कूल एडमिशन की लिस्ट भी ऑनलाइन घोषित की जाएंगी। दाखिला पाने वाले छात्रों के अभिभावक ऑनलाइन ही स्कूल की फीस भर सकेंगे।

हालांकि सरकारी स्कूलों में यह प्रक्रिया ऑनलाइन और ऑफलाइन दोनों माध्यमों से की जाएगी। नर्सरी एडमिशन के अलावा जल्द ही सरकारी एवं प्राइवेट स्कूलों में अन्य कक्षाओं के लिए दाखिले भी प्रारंभ कर दिए जाएंगे।

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और विभिन्न प्राईवेट विद्यालयों के प्रधानाचार्यो एवं प्रबंधन समिति के बीच एक बैठक भी हुई है। इस बैठक के उपरांत दिल्ली सरकार द्वारा कहा गया कि शैक्षणिक सत्र 2021-22 के लिए नर्सरी स्कूलों में दाखिले की प्रक्रिया जल्द शुरू होगी।

प्राइवेट स्कूलों के साथ हुई बैठक के उपरांत मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, "शैक्षणिक सत्र 2021-22 के लिए नर्सरी स्कूलों में दाखिले की प्रक्रिया जल्द शुरू होगी।"

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री एवं शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने 'एक्शन कमिटी गैर सहायता प्राप्त प्राइवेट मान्यता प्राप्त स्कूल' संगठनों के साथ भी दिल्ली सचिवालय में बैठक की है। एक्शन कमिटी एक बड़ा संगठन है और दिल्ली के करीब एक हजार मान्यता प्राप्त प्राइवेट विद्यालय इसके सदस्य हैं।

दिल्ली सरकार चाहती है कि जब प्राइवेट स्कूलों में नर्सरी एडमिशन की प्रक्रिया शुरू हो तो उसके आसपास ही सरकारी स्कूलों में भी एडमिशन भी दाखिले शुरू किए जा सकें। सरकार के मुताबिक प्राइवेट और सरकारी स्कूलों के एडमिशन शेड्यूल में ज्यादा गैप नहीं होगा।

हालांकि नर्सरी कक्षा समेत अन्य प्राथमिक कक्षाएं कब से शुरू होंगी इसको लेकर अभी कोई निर्णय नहीं लिया गया है। कोरोना संक्रमण से बचाव के मद्देनजर पिछले वर्ष मार्च में स्कूल बंद किए गए थे। फिलहाल नौवीं से 12वीं तक की कक्षाओं के छात्रों ने सुरक्षा मानदंडों का निर्वाहन करते हुए अपनी कक्षाओं में जाना शुरू किया है।

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news