अरविंद केजरीवाल बोले- कर्नाटक में स्कूली किताब से भगत सिंह से जुड़ा पाठ हटाना शहीद का अपमान

आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक केजरीवाल ने ट्वीट किया कि देश अपने शहीदों का इस तरह से अपमान बर्दाश्त नहीं करेगा। उन्होंने भाजपा से सवाल किया कि ‘उसके लोग’ भगत सिंह से इतनी नफरत क्यों करते हैं?
अरविंद केजरीवाल बोले- कर्नाटक में स्कूली किताब से भगत सिंह से जुड़ा पाठ हटाना शहीद का अपमान

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार को कर्नाटक में स्कूल की एक किताब से भगत सिंह पर आधारित एक पाठ को हटाने को लेकर दक्षिणी राज्य की भाजपा नीत सरकार पर हमला बोला। उन्होंने कहा कि यह कदम महान स्वतंत्रता सेनानी की शहादत का अपमान है और कर्नाटक सरकार को यह निर्णय वापस लेना चाहिए।

आम आदमी पार्टी (आप) के राष्ट्रीय संयोजक केजरीवाल ने ट्वीट किया कि देश अपने शहीदों का इस तरह से अपमान बर्दाश्त नहीं करेगा। उन्होंने भाजपा से सवाल किया कि ‘उसके लोग’ भगत सिंह से इतनी नफरत क्यों करते हैं?

ऑल इंडिया डेमोक्रेटिक स्टूडेंट्स ऑर्गनाइजेशन (एआईडीएसओ) और ऑल इंडिया सेव एजुकेश कमेटी (एआईएसईसी) समेत कुछ संगठनों ने दावा किया है कि कर्नाटक सरकार ने भगत सिंह पर आधारित एक पाठ को स्कूली किताब से हटा दिया है तथा दसवीं कक्षा की संशोधित कन्नड़ पाठ्यपुस्तक में आरएसएस के संस्थापक केशव बलिराम हेडगेवार का भाषण शामिल किया है।

केजरीवाल ने कहा, “भाजपा के लोग अमर शहीद सरदार भगत सिंह जी से इतनी नफरत क्यों करते हैं? स्कूल की किताबों से सरदार भगत सिंह जी का नाम हटाना अमर शहीद की कुर्बानी का अपमान है।” उन्होंने कहा, “देश अपने शहीदों का ऐसा अपमान बिल्कुल बर्दाश्त नहीं करेगा। भाजपा सरकार को यह फैसला वापस लेना होगा।” ‘आप’ ने कन्नड़ पाठ्यपुस्तक से भगत सिंह पर आधारित पाठ को हटाने के फैसले को ‘शर्मनाक’ बताया। पार्टी ने कर्नाटक सरकार इस पाठ को स्कूली किताब में दोबारा शामिल करने की मांग की।

‘आप’ के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया, “शर्मनाक। कर्नाटक की भाजपा सरकार ने स्कूल की किताबों से भगत सिंह जी से जुड़ा पाठ हटा दिया है। भाजपा शहीद-ए-आजम सरदार भगत सिंह जी से इतनी नफरत क्यों करती है?” पार्टी ने कहा, “भाजपा को यह फैसला वापस लेना चाहिए। भारत हमारे स्वतंत्रता सेनानियों के इस तरह के अपमान को बर्दाश्त नहीं करेगा।”

इस बीच, कर्नाटक के प्राथमिक और माध्यमिक शिक्षा मंत्री बीसी नागेश ने दसवीं कक्षा के छात्रों के लिए जारी संशोधित कन्नड़ पाठ्यपुस्तक में हेडगेवार के एक भाषण को शामिल करने के फैसले का बचाव किया है।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news