प्रधानमंत्री की 'परीक्षा पर चर्चा' में शामिल होंगे माता-पिता और शिक्षक

प्रधानमंत्री की 'परीक्षा पर चर्चा' में शामिल होंगे माता-पिता और शिक्षक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ 'परीक्षा पर चर्चा' के चौथे संस्करण में इस बार उन बच्चों के माता-पिता और शिक्षकों को भी शामिल किया जाएगा, जो इस बातचीत के लिए अपना नाम दर्ज कराएंगे। यह निर्णय लोगों की जबरदस्त मांग के बाद लिया गया है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ 'परीक्षा पर चर्चा' के चौथे संस्करण में इस बार उन बच्चों के माता-पिता और शिक्षकों को भी शामिल किया जाएगा, जो इस बातचीत के लिए अपना नाम दर्ज कराएंगे। यह निर्णय लोगों की जबरदस्त मांग के बाद लिया गया है।

हर साल प्रधानमंत्री द्वारा छात्रों के साथ किए जाने वाले इस संवाद का मकसद बच्चों को मनोबल और आत्मविश्वास बढ़ाना है। 'परीक्षा पर चर्चा' एक ऐसा बहुप्रतीक्षित आयोजन होता है, जिसमें प्रधानमंत्री एक लाइव सेशन में स्टूडेंट्स के परीक्षा के तनाव और उससे जुड़े क्षेत्रों के तमाम सवालों के जबाव अपने खास अंदाज में देते हैं।

केंद्रीय शिक्षा मंत्री रमेश पोखरियाल 'निशंक' ने गुरुवार को घोषणा की है कि 'परीक्षा पर चर्चा 2021' प्रधानमंत्री के सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म के जरिए आयोजित किया जाएगा और बातचीत के लिए रजिस्ट्रेशन कराने वालों में स्कूल के छात्र, शिक्षक और अभिभावक शामिल होंगे। उन्होंने यह भी बताया कि इस बार ये प्रोग्राम वर्चुअल तौर पर आयोजित किया जाएगा।

इस कार्यक्रम के लिए कक्षा 9वीं से 12वीं के छात्रों के परीक्षा के तनाव से निपटने संबंधी सवाल माय जीओवी प्लेटफॉर्म के जरिए आमंत्रित किए जाएंगे और उनमें से चुने हुए प्रश्नों को प्रोग्राम में शामिल किया जाएगा।

निशंक ने यह भी बताया कि देश भर से स्कूली छात्रों, शिक्षकों और अभिभावकों का चयन एक ऑनलाइन रचनात्मक लेखन की प्रतियोगिता के जरिए किया जाएगा, जो मायजीओवी प्लेटफॉर्म के जरिए ही होगी।

उन्होंने कहा, "प्रतियोगिता के लिए छात्रों, अभिभावकों और शिक्षकों के लिए अलग-अलग विषय निर्धारित किए गए हैं। इसके बाद चुने गए प्रतिभागी अपने राज्य या केंद्र शासित प्रदेशों के मुख्यालय से ऑनलाइन कार्यक्रम में भाग लेंगे।"

मंत्री ने कहा कि ऑनलाइन रचनात्मक लेखन प्रतियोगिता का पोर्टल 14 मार्च 2021 तक खुला रहेगा।

मंत्री ने ट्वीट कर कहा, "लोगों की जबरदस्त मांग पर प्रधानमंत्री ने परीक्षा पर चर्चा 2021 में सार्वजनिक कर दिया है। इस बार इसमें माता-पिता और शिक्षक भी शामिल होंगे। यह आयोजन एक गंभीर विषय पर मजेदार चर्चा वाला होगा।

मैं छात्रों, उनके माता-पिता और मेहनती शिक्षकों को बड़ी संख्या में इसमें भाग लेने की अपील करता हूं। इस बार यह आयोजन पूरी तरह से ऑनलाइन है और दुनिया भर के छात्रों के लिए खुला है। आइए, हम मुस्कुराहट के साथ और बिना तनाव के परीक्षाएं दें।"

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news