चलती मेट्रो में मुसाफिर करने लगे Kiss, कोरोना पाबंदियों से परेशान लोगों ने किया कुछ ऐसा..

चलती मेट्रो में मुसाफिर करने लगे Kiss, कोरोना पाबंदियों से परेशान लोगों ने किया कुछ ऐसा..

रूस के शहर Yekaterinburg में चल रही मेट्रो में कई कपल्स ने किस करते हुए अपना विरोध दर्ज कराया। इन में से कुछ लोगों ने लाइफ वेबसाइट के साथ बातचीत में कहा- हमारा मकसद ना तो किसी की भावनाओं को आहत करना है और ना ही किसी पब्लिक सर्विस को खराब करना है।

कोरोना वायरस के चलते दुनिया के कई हिस्सों में लॉकडाउन जैसे हालात और पब्लिक स्पेस में कई तरह की पाबंदियां देखने को मिली हैं।

कई शहरों में लोगों का लॉकडाउन को लेकर सब्र का बांध भी टूटता नजर आ रहा है। ऐसा ही कुछ रूस में देखने को मिला जब कोरोना के चलते लगी पाबंदियों के खिलाफ लोग मेट्रो में किस करने लगे।

रूस के शहर Yekaterinburg में चल रही मेट्रो में कई कपल्स ने किस करते हुए अपना विरोध दर्ज कराया। इन में से कुछ लोगों ने लाइफ वेबसाइट के साथ बातचीत में कहा- हमारा मकसद ना तो किसी की भावनाओं को आहत करना है और ना ही किसी पब्लिक सर्विस को खराब करना है।

दरअसल बहुत सारे म्यूजिशियन्स ऐसे हैं जो कोरोना की इस पाबंदी के खिलाफ बोल रहे हैं। हमारा विरोध इस दकियानूसी पाबंदी के खिलाफ है और हम म्यूजिक इंडस्ट्री को फुल सपोर्ट करते हैं।

इस ग्रुप से जुड़े लोगों ने आगे कहा कि सरकार के हिसाब से वायरस का खतरा कॉन्सर्ट्स और रेस्टोरेंट्स में ज्यादा है और इसलिए नाइटक्लब्स और इवनिंग शोज में जाने से लोगों पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

वहीं लोग मेट्रो में भीड़-भाड़ में यात्रा कर रहे हैं लेकिन सरकार को इस बात से कोई फर्क नहीं पड़ रहा है जबकि ऐसे मामलों में इंफेक्शन का खतरा ज्यादा है।

गौरतलब है कि कोरोना महामारी के चलते दुनिया भर में म्यूजिक और नाइट लाइफ सेक्टर के हालात बहुत खराब हुए हैं। पिछले साल यूनाइटेड किंगडम म्यूजिक इंडस्ट्री 11 परसेंट की ग्रोथ कर रही थी और ये यूके की इकोनॉमी में लगभग 6 बिलियन पाउंड्स का योगदान करती है। लेकिन इस साल महामारी के चलते सिर्फ 3 बिलियन पाउंड्स म्यूजिक इंडस्ट्री ने इकोनॉमी में जोड़े हैं।

यही कारण है कि यूके में सरकार ने म्यूजिक वेन्यू, फेस्टिवल्स और म्यूजिक कल्चर को बचाने के लिए डेढ़ बिलियन पाउंड का फंड जारी किया था। इससे पहले अमेरिका में भी कोरोना वायरस लॉकडाउन को लेकर लोगों में काफी गुस्सा देखने को मिला था क्योंकि ये लोग रोजमर्रा की सुविधाओं का लाभ नहीं उठा पा रहे थे।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news