सोशल मीडिया पर ऑक्सीजन सिलेंडर की अफवाह फैलाना व्यक्ति को पड़ा भारी

सोशल मीडिया पर ऑक्सीजन सिलेंडर की अफवाह फैलाना व्यक्ति को पड़ा भारी

अमेठी में एक व्यक्ति को कथित तौर पर ऑक्सीजन की आपूर्ति को लेकर अफवाह फैलाने के चलते एक व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है। शशांक यादव नाम के शख्स ने ट्विटर पर अपने दादा के लिए ऑक्सीजन सिलेंडर की अपील की थी।

अमेठी में एक व्यक्ति को कथित तौर पर ऑक्सीजन की आपूर्ति को लेकर अफवाह फैलाने के चलते एक व्यक्ति को हिरासत में लिया गया है। शशांक यादव नाम के शख्स ने ट्विटर पर अपने दादा के लिए ऑक्सीजन सिलेंडर की अपील की थी।

अपने ट्वीट में यादव ने उल्लेख नहीं किया था कि उनके दादा कोविड-19 से संक्रमित थे या नहीं। उनके दादा का बाद में दिल का दौरा पड़ने से निधन हो गया।

यादव ने सोमवार शाम अभिनेता सोनू सूद को टैग करते हुए उनकी मदद के लिए एक एसओएस भेजा था।

यादव के दोस्त, अंकित ने संदेश साझा किया और पत्रकार आरफा शेरवानी से मदद मांगी। उसने कुछ घंटे बाद एक ट्वीट पोस्ट किया, जिसमें यादव के दादा के लिए मदद मांगी गई थी।

शेरवानी ने पोस्ट में केंद्रीय मंत्री और अमेठी की सांसद स्मृति ईरानी को भी टैग किया था।

हालांकि, इन संदेशों में से किसी ने भी उल्लेख नहीं किया कि यादव ने कोविड -19 रोगी के लिए ऑक्सीजन सिलेंडर की मांग की थी। ट्वीट के तुरंत बाद, स्मृति ईरानी ने जवाब दिया, उन्होंने कहा कि उन्होंने यादव को कई बार फोन किया लेकिन वह उन तक नहीं पहुंच पाई। ईरानी ने कहा कि उसने जिला मजिस्ट्रेट और अमेठी पुलिस को फॉलोअप करने के लिए कहा था।

थोड़ी देर बाद यादव के दादा का निधन हो गया। स्मृति ईरानी ने अपनी संवेदना व्यक्त की थी।

मंगलवार दोपहर को अमेठी के जिला मजिस्ट्रेट अरुण कुमार ने शेरवानी के मूल ट्वीट का जवाब दिया और मुख्य चिकित्सा अधिकारी की रिपोर्ट साझा की, जिसमें कहा गया था कि यादव के दादा को कोरोना नहीं था, लेकिन दुगार्पुर के एक निजी अस्पताल में उनका इलाज चल रहा था।

उस शाम बाद में पुलिस ने यादव के ट्वीट का जवाब दिया और कहा कि 88 वर्षीय व्यक्ति को कोविड पॉजिटिव नहीं था, लेकिन दिल का दौरा पड़ने से मृत्यु हो गई।

अमेठी पुलिस ने कहा, "इस समय, यह न केवल निंदनीय है, बल्कि सोशल मीडिया पर इस तरह के डर पैदा करने वाले पोस्ट करना भी कानूनी अपराध है।"

पुलिस अधीक्षक (एसपी) दिनेश कुमार ने कहा कि व्यक्ति को ऑक्सीजन की कमी के बारे में सोशल मीडिया पर अफवाह फैलाने के लिए हिरासत में लिया गया है। उन्होंने आगे कहा कि गिरफ्तारी उन लोगों के लिए एक महत्वपूर्ण संदेश है जो कोविड-19 महामारी के बीच गलत सूचना फैला रहे हैं।

एसपी ने कहा, जब उनके दादा बीमार पड़ गए, तो यादव ने अभिनेता सोनू सूद को टैग करते हुए ट्विटर पर लिखा कि ऑक्सीजन सिलेंडर की आवश्यकता है, उन्होंने न तो ऑक्सीजन सिलेंडर के लिए पूछताछ की, न ही उनके दादा एक कोविड पॉजिटिव मरीज थे।

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news