केंद्र वैक्सीन को कारगर बनाने के लिए पाक्षिक कार्यक्रम पर कर रहा काम: पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोविड-19 से अधिक प्रभावित 46 जिलों के जिलाधिकारियों (डीएम) के साथ पहली बातचीत में मंगलवार को कहा कि केंद्र सरकार वैक्सीन आपूर्ति को कारगर बनाने, टीकाकरण और अपव्यय को रोकने के लिए एक पाक्षिक कार्यक्रम पर काम कर रही है।
केंद्र वैक्सीन को कारगर बनाने के लिए पाक्षिक कार्यक्रम पर कर रहा काम: पीएम मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोविड-19 से अधिक प्रभावित 46 जिलों के जिलाधिकारियों (डीएम) के साथ पहली बातचीत में मंगलवार को कहा कि केंद्र सरकार वैक्सीन आपूर्ति को कारगर बनाने, टीकाकरण और अपव्यय को रोकने के लिए एक पाक्षिक कार्यक्रम पर काम कर रही है।

प्रधानमंत्री ने आठ राज्यों के मुख्यमंत्रियों और अधिक प्रभावित क्षेत्रों के डीएम के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंस पर बातचीत करते हुए उन्हें बताया, '' केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय टीकाकरण के संबंध में व्यवस्थाओं और प्रक्रियाओं को लगातार सुव्यवस्थित कर रहा है, ताकि बड़ी रणनीति बनाई जा सके।''

बातचीत का अगला दौर 20 मई को 10 राज्यों के 54 जिलों के जिलाधिकारियों के साथ होगा।

इस बीच, प्रधानमंत्री ने कहा कि बहुत बड़े पैमाने पर कोरोनावायरस वैक्सीन की आपूर्ति बढ़ाने के लिए निरंतर प्रयास किए जा रहे हैं।

मोदी ने आगे कहा कि टीकाकरण कोविड से लड़ने का एक सशक्त माध्यम है, इसलिए हमें इससे जुड़े हर भ्रम को एकजुट होकर दूर करना होगा।

मोदी ने कहा, '' यह देखते हुए कि छूत की जांच के लिए हमारे कवच में तीन मुख्य हथियार हैं, ये स्थानीय नियंत्रण क्षेत्रों, आक्रामक परीक्षण और स्थानीय आबादी को विशेष रूप से अस्पताल के बिस्तर जैसे चिकित्सा संसाधनों की उपलब्धता के संदर्भ में सही और सटीक जानकारी दे रहे हैं।''

प्रधानमंत्री ने बाद में दवाओं और उपकरणों की कालाबाजारी पर नकेल कसने की जरूरत पर जोर देते हुए कहा, "यदि आपको लगता है कि राज्य या केंद्र स्तर पर स्थापित रणनीतियों में बदलाव या नवाचार करने की आवश्यकता है, तो कृपया आगे बढ़ें और सुझाव मेरे या मेरे कार्यालय के साथ साझा करने में संकोच न करें।"

मोदी ने कहा, "उन जगहों से सीखें, जहां इंफेक्शन कर्व (संक्रमण वक्र) नीचे की ओर जाता दिख रहा है।"

प्रधानमंत्री ने कहा कि यह देखते हुए कि बीमारी का प्रसार ग्रामीण क्षेत्रों की ओर है, हमें इन क्षेत्रों पर ध्यान देना चाहिए।

प्रधानमंत्री ने कहा, '' ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों के जीवन को कोविड से बचाने के अलावा, प्रत्येक जिले में प्रत्येक नागरिक के जीवन की सुगमता का ध्यान रखने के लिए एक केंद्रित योजना भी होनी चाहिए।''

मोदी ने कहा, "हमें संक्रमण को भी रोकना है और साथ ही दैनिक जीवन में उपयोग होने वाली आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति को भी आगे बढ़ाना है।"

उन्होंने स्थानीय लॉकडाउन को लागू करने में स्थानीय प्रशासन से सहानुभूति और जीवनयापन के मुद्दों पर ध्यान देने के लिए कहा। मोदी ने कहा, "स्थानीय प्रशासन का एक भी व्यक्ति अगर किसी मरीज या उसके परिवार के संपर्क में आता है, तो उस परिवार की बीमारी से लड़ने की मानसिक शक्ति बढ़ जाती है।"

मोदी ने कहा, "पीएम केयर्स के माध्यम से हमने हर जिले में एक ऑक्सीजन प्लांट स्थापित करने का फैसला किया है और सभी डीएम से मेरा अनुरोध है कि ऐसे प्लांटों की तेजी से स्थापना के लिए पहले से तैयारी करें, जैसा कि चंडीगढ़ और अन्य स्थानों में किया गया है।"

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news