पीएम मोदी ने डेढ़ किमी लंबी मालगाड़ी को दिखाई हरी झंडी, जानें इसकी खासियत...

पीएम मोदी ने डेढ़ किमी लंबी मालगाड़ी को दिखाई हरी झंडी, जानें इसकी खासियत...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को वेस्टर्न डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर ( WDFC ) के रेवाड़ी-मदार खंड को देश को समर्पित किया। इसी दौरान पीएम मोदी ने ऐसी मालगाड़ी को हरी झंडी दिखाई, जिसकी लंबाई 1.5 किमी है और डबल कंटेनर ले जाने की व्यवस्था है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को वेस्टर्न डेडिकेटेड फ्रेट कॉरिडोर (डब्ल्यूडीएफसी) के रेवाड़ी-मदार खंड को देश को समर्पित किया। इसी दौरान पीएम मोदी ने ऐसी मालगाड़ी को हरी झंडी दिखाई, जिसकी लंबाई 1.5 किमी है और डबल कंटेनर ले जाने की व्यवस्था है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यहां अपने संबोधन में कहा कि पिछले कुछ दिनों में ही ऐसे कई काम हुए हैं, जो आधुनिक भारत में विकास को रफ्तार दे रहे हैं। नए साल की शुरुआत के साथ ही आत्मनिर्भर भारत बनने की ओर कदम तेजी से बढ़ रहे हैं। आज हर भारतीय का आह्वान है, ना हम रुकेंगे और ना ही थकेंगे। इस नए कॉरिडोर को भारत के लिए गेम चेंजर के रूप में देखा जा रहा है।

पीएम मोदी ने कहा कि अब देश में मालगाड़ियों की स्पीड को बढ़ाया जा रहा है, जो रफ्तार पहले 25 KMPH थी अब उसे 90 KMPH तक पहुंचाया जा रहा है। पीएम बोले कि ये कॉरिडोर सिर्फ आधुनिक मालगाड़ियों के लिए रूट नहीं है, बल्कि देश के तेज विकास के कॉरिडोर भी हैं। इस कॉरिडोर से हरियाणा, राजस्थान के दर्जनों जिलों के स्थानीय उद्योगों को लाभ मिलेगा।

पीएम मोदी बोले कि आज देश में व्यक्तिगत विकास को बढ़ावा दिया जा रहा है, जिसमें बिजली-पानी-इंटरनेट-सड़क-घर जैसी सुविधाओं को उपलब्ध कराया जा रहा है। साथ ही अर्थव्यवस्था को भी रफ्तार देने का काम चल रहा है, जिसमें उद्योगों को बढ़ावा देने के लिए कई काम किए जा रहे हैं। देश में आज फ्रेट कॉरिडोर के अलावा इकॉनोमिक कॉरिडोर, डिफेंस कॉरिडोर जैसी व्यवस्था भी बन रही हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि जापान भी भारत की विकास यात्रा में सबसे बड़ा साथी रहा है। इस कॉरिडोर के निर्माण में जापान का सहयोग रहा है। पीएम मोदी ने कहा कि पहले रेल यात्रियों का अनुभव काफी दिक्कतों भरा रहता था, लेकिन अब बुकिंग से लेकर सफाई, यात्री सुविधा और रफ्तार पर फोकस किया जा रहा है। पिछले 6 साल में नई रेल लाइन, लाइनों के चौड़ीकरण, बिजलीकरण पर बड़ा निवेश हुआ है। जल्द ही नॉर्थ ईस्ट के हर राज्य की राजधानी भी रेलवे से जुड़ेगी।

रेवाड़ी -मदार खंड हरियाणा (लगभग 79 किलोमीटर, महेंद्रगढ़ और रेवाड़ी) और राजस्थान (लगभग 227 किलोमीटर, जयपुर, अजमेर, सीकर, नागौर और अलवर) में स्थित है। इसमें नौ नवनिर्मित डीएफसी स्टेशन शामिल हैं, जिनमें से छह- न्यू डबला, न्यू भगेगा, न्यू श्री माधोपुर, न्यू पचार मलिकपुर, न्यू सकून और न्यू किशनगढ़-क्रॉसिंग स्टेशन हैं। जबकि अन्य तीन- रेवाड़ी, न्यू अटेली और न्यू फुलेरा- जंक्शन स्टेशन हैं।

इस खंड के शुरू होने से राजस्थान और हरियाणा के रेवाड़ी- मानेसर, नारनौल, फुलेरा और किशनगढ़ इलाके में स्थित विभिन्न उद्योगों को लाभ होगा और यह काठुवास में स्थित कॉनकोर के कंटेनर डिपो के बेहतर इस्तेमाल को भी संभव बनायेगा।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news