कांग्रेस जाति आधारित जनगणना के आंकड़े सार्वजनिक करने के पक्ष में: राहुल गांधी

राहुल ने भारत जोड़ो यात्रा के दौरान तेलंगाना के कोथुर में एक प्रेस वार्ता को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि सामाजिक-आर्थिक एवं जाति-आधारित जनगणना सबसे पहले कांग्रेस ने शुरू की थी।
कांग्रेस जाति आधारित जनगणना के आंकड़े सार्वजनिक करने के पक्ष में: राहुल गांधी

कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने कहा कि वह जाति आधारित जनगणना और अन्य पिछड़ा वर्ग (ओबीसी) से जुड़े आंकड़ों को सार्वजनिक करने का समर्थन करते हैं।

राहुल ने भारत जोड़ो यात्रा के दौरान तेलंगाना के कोथुर में एक प्रेस वार्ता को संबोधित किया। इस दौरान उन्होंने कहा कि सामाजिक-आर्थिक एवं जाति-आधारित जनगणना सबसे पहले कांग्रेस ने शुरू की थी। यह जरूरी है कि लोग भारतीय आबादी की संरचना को समझें।

उल्लेखनीय है कि 2011 में संयुक्त प्रगतिशील गठबंधन (यूपीए) सरकार के दौरान सामाजिक आर्थिक और जातिगत जनगणना की गई थी। हालांकि अंतर्निहित त्रुटियों का हवाला देते हुए इसका डेटा प्रकाशित नहीं किया गया था।

राहुल गांधी ने एक बार फिर केंद्र की भारतीय जनता पार्टी सरकार पर कुछ व्यापारियों को लाभ पहुंचाने का आरोप लगाया। उन्होंने कहा कि मीडिया, न्यापालिका और नौकरशाही पर लगातार हमले किए जा रहे हैं। केन्द्र में सत्ता में वापसी पर कांग्रेस सुनिश्चित करेगी की सभी निकाय स्वतंत्र हों।

कांग्रेस नेता ने इस बात को भी स्पष्ट किया की उनकी पार्टी का टीआरएस से कोई समझौता नही होने वाला है। उन्होंने कहा कि टीआरएस ने खुद इस असमंजस को पैदा किया है। साथ ही राहुल ने तेलंगाना के मुख्यमंत्री के. चंद्रशेखर राव के अपनी पार्टी का नाम बदलने और इसे राष्ट्रीय पार्टी घोषित करने के कदम पर तंज कसा।

उन्होंने कहा, “अगर उन्हें लगता है कि वह एक राष्ट्रीय पार्टी चला रहे हैं, तो यह बिल्कुल ठीक है और कोई समस्या नहीं है। अगर उन्हें लगता है कि वह एक वैश्विक पार्टी चला रहे हैं, तो यह भी स्वीकार्य है।”

गुजरात पर राहुल ने कहा कि गुजरात में सत्ता विरोधी लहर है। वहीं आम आदमी पार्टी (आप) की मौजूदगी शोर-शराबे से भरी है। कांग्रेस गुजरात में चुनाव जीतने जा रही है।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news