रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव का बयान, 'Forged Rail Wheels and High Density Tracks का निर्यातक बनेगा भारत'

भारतीय रेलवे को हर साल दो लाख पहियों की जरूरत होती है। योजना के मुताबिक, स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (सेल) एक लाख पहिए मुहैया कराएगा, बाकी एक नया 'मेक इन इंडिया' प्लांट मुहैया कराएगा।
रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव का बयान, 'Forged Rail Wheels and High Density Tracks का निर्यातक बनेगा भारत'

रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि भारतीय रेलवे ने आत्मनिर्भर भारत और मेक इन इंडिया अभियान को गति देने के लिए फोर्ज्ड रेल व्हील और हाईडेन्सिटी पटरियों का निर्यातक बनने का खाका तैयार किया है।

रेल मंत्री वैष्णव ने रेल भवन में आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि भारतीय रेलवे ने मेक इन इंडिया व्हील एग्रीमेंट के तहत हाई स्पीड फोर्ज्ड व्हील बनाने के लिए निविदा जारी की है। जे हर साल कम से कम 80,000 पहियों का निर्माण करेगी।

उन्होंने कहा कि हम 18 महीने के भीतर कारखाना लगाने की योजना बना रहे हैं ताकि देश में मांगों को पूरा किया जा सके। वैष्णव ने कहा कि निविदा इस शर्त पर दी जाएगी कि संयंत्र पहियों का भी निर्यातक होगा और निर्यात बाजार यूरोप होगा।

उन्होंने कहा कि यह पहली बार है कि रेलवे ने निजी कंपनियों को भारत में हाई स्पीड ट्रेनों के लिए व्हील प्लांट और व्हील बनाने के लिए आमंत्रित करने के लिए एक टेंडर जारी किया है।

भारतीय रेलवे को हर साल दो लाख पहियों की जरूरत होती है। योजना के मुताबिक, स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (सेल) एक लाख पहिए मुहैया कराएगा, बाकी एक नया 'मेक इन इंडिया' प्लांट मुहैया कराएगा।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news