अलग तरीके से मनाया गया पायलट का जन्मदिन, राजस्थान में रिकॉर्ड 45 हजार लोगों ने किया रक्तदान
ताज़ातरीन

अलग तरीके से मनाया गया पायलट का जन्मदिन, राजस्थान में रिकॉर्ड 45 हजार लोगों ने किया रक्तदान

अपने जन्मदिन से पहले, पायलट ने खुद लोगों से अपील की थी कि वे कोविड-19 महामारी के समय में जयपुर न आएं और भीड़ न करें। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं और समर्थकों से आगे आने आकर रक्तदान करने के लिए कहा था।

Yoyocial News

Yoyocial News

राजस्थान के पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट का 43वां जन्मदिन अलग-अलग तरीके से मनाया गया। उनके जन्मदिन के मौके पर लगभग 45 हजार लोगों ने रक्तदान किया है, जो आज तक राज्य में किसी नेता के आह्वान पर रक्तदान करने वालों की सबसे बड़ी संख्या है।

सोमवार को पायलट का जन्मदिन था। जगह-जगह होर्डिग लगाए गए थे। वृक्षारोपण कार्यक्रम आयोजित किए गए थे, पशुओं के चारे की व्यवस्था की गई थी, राज्य के विभिन्न हिस्सों में नेत्रदान शिविर लगाया गया था। राज्य के सभी जिलों में गरीबों में भोजन और फल बांटे गए और गरीब बच्चों को किताबें वितरित की गईं।

अपने जन्मदिन से पहले, पायलट ने खुद लोगों से अपील की थी कि वे कोविड-19 महामारी के समय में जयपुर न आएं और भीड़ न करें। उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं और समर्थकों से आगे आने आकर रक्तदान करने के लिए कहा था।

पायलट ने जन्मदिन से पहले एक बयान में कहा था 'मैंने सभी से अपील की है कि 7 सितंबर को मेरे जन्मदिन पर मुझे शुभकामनाएं देने के लिए जयपुर आकर भीड़ न करें। लोगों के स्वास्थ्य और सुरक्षा का महत्व सर्वोपरि है और हम सभी को अधिकारियों द्वारा जारी प्रोटोकॉल और दिशानिर्देशों का पालन करना होगा।'

उनकी सलाह के बाद, उनके समर्थक और कार्यकर्ता जयपुर नहीं आए लेकिन इतिहास रचने के लिए उन्होंने राज्य के विभिन्न जगहों पर रक्तदान किया।

जिलों से प्राप्त आंकड़ों के अनुसार, जयपुर शहर में 7,222 यूनिट , झालावाड़ में 6,151 यूनिट, जयपुर ग्रामीण में 3,453 यूनिट, सीकर में 3,182 यूनिट, अजमेर में 3,181 यूनिट, अलवर में 2,390 यूनिट और दौसा में 2,211 यूनिट रक्तदान किया गया।

राजस्थान में सभी 200 विधानसभा सीटों पर इस विशाल रक्तदान अभियान ने पायलट के 43वें जन्मदिन पर एक छाप छोड़ी है।

हालांकि यह अभियान उनके जन्मदिन को चिन्हित करने के लिए समाज सेवा के तौर पर दर्शाया गया है लेकिन इसे राजनीतिक संदेश के रूप में भी देखा जा रहा है कि पायलट को अभी भी बड़े पैमाने पर राज्यभर में पार्टी के कार्यकर्ताओं और युवाओं का समर्थन हासिल है।

सोमवार को, पायलट ने एक वीडियो संदेश में अपने समर्थकों को धन्यवाद दिया और कहा कि कोविड-19 के समय में रक्तदान सबसे बड़ी मानवता है, राजस्थान के लोगों का समर्थन मेरे लिए ताकत का एक बड़ा स्रोत रहा है और मैं उन लोगों के आशीर्वाद के लिए आभारी हूं जिन लोगों ने मुझे जन्मदिन की बधाई दी और साथ ही एक नेक काम के लिए रक्तदान किया।

राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का कैम्प हालांकि रक्तदान अभियान के दौरान सक्रिय नहीं था और उन्होंने ट्विटर पर पायलट को जन्मदिन की शुभकामनाएं दी।

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news