लव जिहाद के खिलाफ मध्य प्रदेश में धर्म स्वातंत्र्य अध्यादेश हुआ पास, कैबिनेट से मिली मंजूरी

लव जिहाद के खिलाफ मध्य प्रदेश में धर्म स्वातंत्र्य अध्यादेश हुआ पास, कैबिनेट से मिली मंजूरी

इस अध्यादेश के आने के बाद कोई भी व्यक्ति दूसरे को प्रलोभन, धमकी एवं बलपूर्वक विवाह के नाम पर अथवा अन्य कपटपूर्ण तरीके से प्रत्यक्ष अथवा परोक्ष से उसका धर्म परिवर्तन अथवा धर्म परिवर्तन का प्रयास नहीं कर सकेगा।

मध्य प्रदेश कैबिनेट ने धर्म स्वातंत्रता (धार्मिक स्वतंत्रता) अध्यादेश को मंजूरी दे दी है। उत्तर प्रदेश की तर्ज पर मध्य प्रदेश की शिवराज सरकार भी लव जिहाद के खिलाफ कानून बनाने जा रही है, जिससे जबरन धर्म परिवर्तन के लिए मजबूर कर शादी करने वालों को कड़ी सजा दी जा सके।

इस कानून के तहत जबरदस्ती धर्म परिवर्तन कर शादी करने वालों को अधिकतम 10 साल की सजा और एक लाख रुपये के जुर्माने का प्रावधान किया गया है। मध्य प्रदेश कैबिनेट ने अपनी बैठक में इसे मंजूरी दी है।

गौरतलब है कि मध्यप्रदेश सरकार के मंत्रिमंडल ने कथित 'लव जिहाद' के खिलाफ सख्त कानून बनाने के लिए 26 दिसंबर को 'मध्यप्रदेश धार्मिक स्वतंत्रता विधेयक-2020' को मंजूरी दी थी।

इस विधेयक में शादी तथा किसी अन्य कपटपूर्ण तरीके से किए गए धर्मांतरण के मामले में अधिकतम 10 साल की कैद एवं एक लाख रुपये तक के जुर्माने का प्रावधान किया गया है।

इस अध्यादेश के आने के बाद कोई भी व्यक्ति दूसरे को प्रलोभन, धमकी एवं बलपूर्वक विवाह के नाम पर अथवा अन्य कपटपूर्ण तरीके से प्रत्यक्ष अथवा परोक्ष से उसका धर्म परिवर्तन अथवा धर्म परिवर्तन का प्रयास नहीं कर सकेगा।

इसके बाद कोई भी व्यक्ति धर्म परिवर्तन का षड्यंत्र नहीं कर सकेगा।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news