एससी कॉलेजियम ने 4 उच्च न्यायालयों के न्यायाधीशों के रूप में 16 नामों के पदोन्नति के प्रस्ताव को मंजूरी दी

कॉलेजियम ने 29 सितंबर को हुई अपनी बैठक में अधिवक्ता आदित्य कुमार महापात्र और मृगंका शेखर साहू को उड़ीसा उच्च न्यायालय के न्यायाधीश और न्यायिक अधिकारी राधा कृष्ण पटनायक और शशिकांत मिश्रा के रूप में पदोन्नत करने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी।
एससी कॉलेजियम ने 4 उच्च न्यायालयों के न्यायाधीशों के रूप में 16 नामों के पदोन्नति के प्रस्ताव को मंजूरी दी

भारत के मुख्य न्यायाधीश एन.वी. रमन्ना की अध्यक्षता वाली सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने चार उच्च न्यायालयों- बॉम्बे, गुजरात, उड़ीसा और पंजाब व हरियाणा के न्यायाधीशों के रूप में पदोन्नति के लिए 16 नामों को मंजूरी दी है। शीर्ष अदालत की वेबसाइट पर प्रकाशित एक बयान में कहा गया है, "सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने 29 सितंबर, 2021 को हुई अपनी बैठक में बॉम्बे हाईकोर्ट में निम्नलिखित न्यायिक अधिकारियों एएल पानसरे, एससी मोरे, यूएस जोशी-फाल्के, और बीपी देशपांड को न्यायाधीश के रूप में पदोन्नत करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है।

कॉलेजियम ने 29 सितंबर को हुई अपनी बैठक में अधिवक्ता आदित्य कुमार महापात्र और मृगंका शेखर साहू को उड़ीसा उच्च न्यायालय के न्यायाधीश और न्यायिक अधिकारी राधा कृष्ण पटनायक और शशिकांत मिश्रा के रूप में पदोन्नत करने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी।

एक अन्य बयान में, शीर्ष अदालत ने कहा, "सुप्रीम कोर्ट कॉलेजियम ने 29 सितंबर, 2021 को हुई अपनी बैठक में गुजरात उच्च न्यायालय में निम्नलिखित अधिवक्ताओं को न्यायाधीश के रूप में पदोन्नत करने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है, जो मौना मनीष भट्ट, समीर जे दवे, हेमंत एम. प्रच्छक, संदीप एन. भट्ट, अनिरुद्ध प्रद्युम्न माई, निराल रश्मीकांत मेहता और निशा महेंद्रभाई ठाकोर हैं।

कॉलेजियम ने अधिवक्ता संदीप मौदगिल को पंजाब और हरियाणा उच्च न्यायालय में न्यायाधीश के रूप में पदोन्नत करने के प्रस्ताव को भी मंजूरी दी।

सीजेआई के अलावा, तीन सदस्यीय कॉलेजियम, जो उच्च न्यायालयों में नियुक्ति से संबंधित है, में जस्टिस यू.यू. ललित और ए.एम. खानविलकर भी शामिल हैं।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.