बर्फ की चादर में लिपटा शिमला, पहले बर्फबारी से निखर उठे हिमाचल के पर्यटन स्‍थल

बर्फ की चादर में लिपटा शिमला, पहले बर्फबारी से निखर उठे हिमाचल के पर्यटन स्‍थल

नववर्ष के आगाज से पहले हिमाचल प्रदेश के पर्यटन स्‍थल बर्फबारी से निखर उठे हैं। शिमला जिला के कुफरी व नारकंडा में भारी बर्फबारी हुई है।

रविवार को दिन के समय अच्छी धूप खिली थी। किसी को अंदाजा तक नहीं था कि शिमला में बर्फबारी होगी। बाहरी राज्यों से आए पर्यटकों ने जब सुबह आंख खोली तो चारों ओर चांदी बिखरी हुई थी।

बर्फबारी को देख पर्यटकों के चेहरे खिल गए और पर्यटक होटलों को छोड़कर रिज और मालरोड़ पहुंच गए। मालरोड़ पर पर्यटकों ने बर्फबारी का खूब लुत्फ उठाया। जमकर फोटो शूट किया।

नववर्ष के आगाज से पहले हिमाचल प्रदेश के पर्यटन स्‍थल बर्फबारी से निखर उठे हैं। शिमला जिला के कुफरी व नारकंडा में भारी बर्फबारी हुई है।

धर्मशाला के ऊपरी इलाकों व धौलाधार की पहाडि़यां बर्फ से ढक गई हैं। सोलन जिला के चायल व आसपास के इलाकों में सीजन का पहला हिमपात हुआ है।

रात से ही बारिश हो रही थी और जैसे ही सुबह हुई तो आसपास की वादियों में बर्फ की सफेद चादर चढ़ी हुई थी। जिला चंबा के डलहौजी में भी बर्फबारी हुई है। इसके अलावा मनाली व लाहुल स्‍पीति अटल टनल के आसपास बर्फ के ढेर लग गए हैं।

बर्फबारी के बाद मौसम सुहावना बना हुआ है। पर्यटन नगरी मनाली से लेकर पतलीकूहल तक भारी बर्फ गिरी है।

वहीं शहर की सड़कें पूरी तरह से बंद हैं। इक्का-दुक्का वाहन ही सड़कों पर दिखाई दे रहे हैं। ऊपरी शिमला पूरी तरह से बर्फबारी के कारण कट चुका है। जिला में कुल 540 सड़कें बंद हैं। इसके अलावा 450 ट्रांसफार्मर बिजली गुल है। अब लोक निर्माण विभाग से लेकर पुलिस और प्रशासन के अधिकारी फील्ड में डट गए हैं। उम्मीद है कि दोपहर बाद तक शहर में ट्रैफिक की स्थिति को सामान्य किया जा सकेगा।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news