पाकिस्तान: 42 हजार केस, 900 से ऊपर मौतें लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने खुलवा दिए शॉपिंग माल, सार्वजनिक परिवहन भी बहाल
ताज़ातरीन

पाकिस्तान: 42 हजार केस, 900 से ऊपर मौतें लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने खुलवा दिए शॉपिंग माल, सार्वजनिक परिवहन भी बहाल

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान दिहाड़ी मजदूरों और अन्य गरीबों की आर्थिक दिक्कतों के हवाले से लॉकडाउन में ढील के पक्षधर बने रहे और शुरुआती दिनों के संपूर्ण लॉकडाउन के बाद देश में धीरे-धीरे कई क्षेत्र खोल दिए गए।

Yoyocial News

Yoyocial News

पाकिस्तान में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं और इसके बीच देश में लॉकडाउन अब कुछ गिनती के क्षेत्रों को छोड़कर बाकी हर जगह से लगभग खत्म हो चुका है। सोमवार को देश के सुप्रीम कोर्ट ने सभी शॉपिंग माल को खोलने का आदेश दिया और बेहद तीव्रता के साथ इस पर अमल करते हुए कई जगहों पर माल खोल दिए गए। ये अलग बात है कि पाकिस्तान में मरीजों की संख्या 42 हजार के पार है और अब तक 900 से ज्यादा लोगों की कोरोना संक्रमण से मौत हो चुकी है. इस संख्या में तेजी से इजाफा जारी है.

पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान दिहाड़ी मजदूरों और अन्य गरीबों की आर्थिक दिक्कतों के हवाले से लॉकडाउन में ढील के पक्षधर बने रहे और शुरुआती दिनों के संपूर्ण लॉकडाउन के बाद देश में धीरे-धीरे कई क्षेत्र खोल दिए गए।

शर्तो पर अमल की बात के साथ पहले मस्जिदों को सामूहिक प्रार्थना के लिए खोला गया। इसके अगल चरण में सोशल डिस्टेंसंग के नियम के पालन की शर्त के साथ बाजार भी खोल दिए गए। शर्तो पर अमल नहीं हुआ लेकिन बाजार खुल गए। बाजार खोलने के साथ यह शर्त लगाई गई कि शॉपिंग माल नहीं खुलेंगे और बाजार भी शनिवार और रविवार को बंद रहेंगे।

Pakistan corona update
Pakistan corona update

सोमवार की सुनवाई के दौरान सुप्रीम कोर्ट ने शनिवार और रविवार के लॉकडाउन पर सवाल उठाते हुए पूछा कि 'क्या (कोरोना) महामारी ने सरकार से वादा कर लिया है कि वह शनिवार और रविवार को नहीं आएगी? इसका कोई तुक नहीं है। अबसे सभी बाजार हफ्ते में सातों दिन खुलेंगे।'

सर्वोच्च अदालत के इस आदेश से साफ हो गया कि जो दो दिन लॉकडाउन सोचा गया था, अब वो भी अस्तित्व में नहीं रहा। यानी जैसे सामान्य दिनों में बाजार खुलते थे, अब वैसे ही खुलेंगे। इस बंदी पर सर्वाधिक तकरार सिंध में सरकार और कारोबारियो के बीच हो रही थी क्योंकि सरकार दो दिन की बंदी पर डटी हुई थी। सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद सिंध सरकार ने बिना देर किए अधिसूचना जारी कर बाजार को सातों दिन खोलने की जानकारी दी।

बाजार पहले से खुल गए थे लेकिन शॉपिंग माल बंद थे। सुप्रीम कोर्ट ने सोमवार की सुनवाई में इसके औचित्य पर सवाल उठाते हुए कहा कि ईद आने वाली है और कितने ही परिवार साल में केवल एक बार ईद पर ही नए कपड़े बनवाते हैं। ऐसे में माल बंद नहीं किए जा सकते। इन्हें खोला जाए।

इस आदेश के आने भर की देर थी कि राष्ट्रीय राजधानी इस्लामाबाद में सभी माल खुल गए। पंजाब सरकार ने अधिसूचना जारी कर माल खोलने की अनुमति दी और लाहौर समेत प्रांत के तमाम शहरों में माल खुल गए।

सार्वजनिक परिवहन भी सोशल डिस्टेंसिंग के नियमों के पालन के साथ खुल गए हैं। वाहन सड़कों पर आ गए और सोशल डिस्टैंसिंग न होने का हाल यह रहा कि कई जगहों पर लोग इन वाहनों में एक-दूसरे पर लदे दिखे।

पंजाब में सरकार ने दबाव डाला कि इजाजत दे दी गई है तो वाहन चलाए जाएं लेकिन पब्लिक ट्रांसपोर्टरों ने कहा कि किराए में कमी की गई है और वाहनों को भरने की अनुमति भी नहीं है, ऐसे में वाहन चलाना उनके लिए घाटे का सौदा है। इसी वजह से पंजाब में सोमवार को सार्वजनिक परिवहन नहीं दिखा। इस पर बात चल रही है।

अब स्कूल-कॉलेज, सिनेमाघर-थिएटर, बड़े समारोह (जैसे विवाह समारोह), सार्वजनिक रैलियां जैसी चुनिंदा चीजें ही हैं जो लॉकडाउन के दायरे में हैं। पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर में भी कोरोना के मामले सामने आने के बाद लॉकडाउन में कुछ कड़ाई की गई है, अन्यथा पाकिस्तान में अब बड़े स्तर पर लॉकडाउन समाप्त हो चुका है।

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news