Jahangirpuri Violence: भारत में मुसलमानों के खिलाफ हिंसा देखकर दुख होता है; जहांगीरपुरी पर बोलीं पद्मा लक्ष्मी

पद्मा लक्ष्मी ने कई ट्वीट्स कर कहा कि देश में 'व्यापक पैमाने पर मुस्लिम विरोधी' बयानबाजी चल रही है और उन्होंने उम्मीद जतायी कि हिंदू 'डर पैदा करने' और 'दुष्प्रचार' के जाल में नहीं फंसेंगे।
Jahangirpuri Violence: भारत में मुसलमानों के खिलाफ हिंसा देखकर दुख होता है; जहांगीरपुरी पर बोलीं पद्मा लक्ष्मी

भारतीय अमेरिकी सुपरमॉडल और लेखिका पद्मा लक्ष्मी ने बुधवार को कहा कि भारत में या कहीं और हिंदुत्व को कोई खतरा नहीं है। उन्होंने कहा कि सभी धर्मों के लोगों को इस प्राचीन विशाल भूमि पर शांतिपूर्वक रहना चाहिए। पद्मा लक्ष्मी (51) ने कई ट्वीट्स कर कहा कि देश में 'व्यापक पैमाने पर मुस्लिम विरोधी' बयानबाजी चल रही है और उन्होंने उम्मीद जतायी कि हिंदू 'डर पैदा करने' और 'दुष्प्रचार' के जाल में नहीं फंसेंगे।

हनुमान जंयती पर एक शोभायात्रा के दौरान दिल्ली के जहांगीरपुरी में दो समुदायों के बीच हिंसा और खरगोन शहर में हिंसा पर ‘द गार्जियन’ और ‘लॉस एंजिलिस टाइम्स’ जैसे अंतरराष्ट्रीय प्रकाशनों के समाचार लेखों को टैग करते हुए लक्ष्मी ने कहा कि ‘‘सच्ची आध्यात्मिकता’’ में नफरत की कोई जगह नहीं है।

उन्होंने कहा, 'भारत में मुसलमानों के खिलाफ हिंसा को देखकर दुख होता है। मुसलमानों के खिलाफ व्यापक बयानबाजी लोगों में डर पैदा करती है और जहर घोलती है। यह दुष्प्रचार खतरनाक और कुटिल है क्योंकि जब आप किसी को कम समझते हैं तो उनके दमन में शामिल होना ज्यादा आसान हो जाता है।' ‘टॉप शेफ’ की न्यूयॉर्क में रहने वाली अभिनेत्री ने कहा कि सभी धर्मों के लोगों को एक साथ मिलकर शांतिपूर्वक रहना चाहिए।

उन्होंने ट्वीट किया, 'साथी हिंदुओं, इस डर पैदा करने के जाल में न फंसे। भारत या कहीं ओर हिंदुत्व को कोई खतरा नहीं है। सच्ची आध्यात्मिकता में किसी तरह की नफरत के बीज बोने की कोई जगह नहीं है। इस प्राचीन, विशाल भूमि पर सभी धर्मों के लोगों को एक साथ मिलकर शांतिपूर्वक रहना चाहिए।' पद्मा लक्ष्मी के इस ट्वीट पर फिलहाल भारत सरकार या फिर अन्य किसी व्यक्ति की ओर से कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.