'मोदी@20: सपने हुए साकार’ पुस्तक के लोकार्पण के बाद बोलीं स्मृति ईरानी, 'देश में प्रधान सेवक के रूप में एक ही व्यक्ति'

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने नीतीश कुमार का नाम लिए बगैर जोरदार प्रहार करते हुए कहा कि जिन्हें खुद सहारे की जरूरत है, उनके आचरण की चर्चा पूरे देश में हो रही है।
'मोदी@20: सपने हुए साकार’ पुस्तक के लोकार्पण के बाद बोलीं स्मृति ईरानी, 'देश में प्रधान सेवक के रूप में एक ही व्यक्ति'

केंद्रीय महिला एवं बाल विकास मंत्री स्मृति ईरानी ने पटना के ज्ञान भवन में ‘‘मोदी@20: सपने हुए साकार’ पुस्तक के लोकार्पण के बाद बतौर मुख्य वक्ता समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि पीएम की रेस में कई हैं लेकिन देश में प्रधान सेवक के रूप में एक ही व्यक्ति नरेन्द्र भाई मोदी हैं। 2024 में देश की जनता नरेन्द्र भाई मोदी को एक बार फिर भारी बहुमत से जीत देगी।

केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने नीतीश कुमार का नाम लिए बगैर जोरदार प्रहार करते हुए कहा कि जिन्हें खुद सहारे की जरूरत है, उनके आचरण की चर्चा पूरे देश में हो रही है। सड़क पर रक्त बह रहा है। शोषित परिवार, अपने सम्मान के लिए संघर्ष करती महिला उन्हें नजर नहीं आती।

स्मृति ईरानी ने कहा कि मोदी मंत्र हैं, मेथर्ड हैं, मिशन हैं। वे कर्मयोगी भी हैं, कर्मयोद्धा भी हैं। एक क्रिया जबकि दूसरा आचरण का प्रतीक है।

प्रधानमंत्री की रेस में शायद कई हैं, लेकिन देश में प्रधान सेवक के रूप में एक ही व्यक्ति नरेन्द्र भाई मोदी हैं। 2024 में देश की जनता नरेंद्र भाई मोदी को एक बार फिर भारी बहुमत से जीत देगी।

उन्होंने कहा कि जिस प्रदेश की भूमि ने वीरों को सींचा है, उस प्रदेश में कर्मयोद्धा नरेन्द्र भाई पर कटाक्ष होता है। वह भी उनके द्वारा जिन्हें खुद सरकार बनाने के लिए सहारे की जरूरत है।

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि जिन्हें खुद सहारे की जरूरत है, उनके आचरण की चर्चा पूरे देश में हो रही है। सड़क पर रक्त बह रहा है। बेगुनाह, वंचित, शोषित परिवार, अपने सम्मान के लिए संघर्ष करती महिला उन्हें नजर नहीं आती। नरेंद्र मोदी के प्रतिद्वंद्वी इस चिंता में हैं कि कैसे सत्ता हासिल करें। पर, नरेन्द्र भाई 2024 में फिर सफलता का परचम लहरायेंगे।

स्मृति ईरानी ने कहा- 2012 में जब नरेंद्र मोदी CM थे तो पंचामृत का जिक्र किया था, उस पर काम किया गया। जब पहली बार मोदी जी की सभा में बम फटा, लेकिन धमाके विपक्षी दलों में हुआ था। नरेंद्र मोदी जब भी कैबिनेट में चर्चा करते थे, ऊर्जा शक्ति को बेहतर तरीके उपयोग करने की बात कहते हैं।

नरेंद्र मोदी ज्ञान शक्ति को लेकर भी काम किया। इसमें जय किसान, जय जय जवान, जय विज्ञान के साथ जय अनुसंधान हो गया गया। रक्षा शक्ति को लेकर देश की सीमाओं को सुरक्षा संकल्प लिया।

उन्होंने कहा- साल 2013 में बीजेपी के 773 एमएलए थे। अब 1440 से ज्यादा हैं। 2013 में चार मुख्यमंत्री थे। अब 12 सीएम भाजपा के हैं। जितिया का निर्जला उपवास है। सभी माताओं से मैं यही मांगती हूं की नरेन्द्र मोदी को दुआ दें।

इससे पहले बिहार भाजपा प्रभारी विनोद तावड़े ने कहा कि स्मृति ईरानी मेरी बड़ी बहन है, जिन्होंने राहुल गांधी को हराया है। उनकी अंगुली पकड़कर मैं आया हूं तो कुछ भी कर सकता हूं। जब बिहार में नरेन्द्र मोदी आए थे और उनकी सभा में बम के धमाके हुए थे। बिहार की जनता ने उनको प्रधानमंत्री बनाया।

उस समय भी हालत खराब थे। अब भी हालत खराब है। बेगूसराय में क्या हो रहा है,यह पूरा प्रदेश देख रहा है। संगठन में मंत्री, विधायक बनाना बड़ी बात नहीं, संगठन को मजबूत करना बड़ी बात है। उन्होंने कहा- बिहार के युवाओं को किताब पढ़ना चाहिए। ये आईएएस और आईपीएस की धरती है। उनको ये किताब पढ़नी चाहिए, मोदीजी के बारे जानने का ये बहुत बढ़िया माध्यम है।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news