दफ्तर जाए बिना घर से काम करके अधिक खुश हैं 62 प्रतिशत कर्मचारी: सर्वे

दफ्तर जाए बिना घर से काम करके अधिक खुश हैं 62 प्रतिशत कर्मचारी: सर्वे

कोरोनावायरस महामारी के बीच घर से काम (वर्क फ्रॉम होम) का चलन बढ़ा है। इस बीच एक नए सर्वे में सामने आया है कि कर्मचारी भी दूरस्थ रूप से (कार्यालय में जाए बिना घर से काम) काम करना पसंद कर रहे हैं।

कोरोनावायरस महामारी के बीच घर से काम (वर्क फ्रॉम होम) का चलन बढ़ा है। इस बीच एक नए सर्वे में सामने आया है कि कर्मचारी भी दूरस्थ रूप से (कार्यालय में जाए बिना घर से काम) काम करना पसंद कर रहे हैं। सर्वे में शामिल 62 प्रतिशत कर्मचारियों ने कहा है कि वह दूरस्थ रूप से काम करके खुश हैं।

लगभग 56 प्रतिशत कर्मचारियों ने कहा कि वे दूरस्थ रूप से और अधिक अच्छे ढंग से काम कर पाते हैं और 61 प्रतिशत ने कहा कि वे दूरस्थ तरीके से काम करते हुए अपनी आठ घंटे की शिफ्ट में अधिक काम कर सकते हैं। लोगमीइन द्वारा संचालित फॉरेस्टर स्टडी में यह दावा किया गया है, जो कि क्लाउड-आधारित सॉल्यूशंस गोटूमीटिंग का एक प्रमुख प्रदाता है।

हालांकि सर्वेक्षण के निर्णयकतार्ओं में से केवल पांच प्रतिशत का मानना है कि दूरस्थ तरीके से काम करने वाले कर्मचारी अधिक प्रोडक्टिव काम करते हैं और 70 प्रतिशत ने कहा कि कार्यालय में कर्मचारी अधिक भरोसेमंद हैं।

अध्ययन में पता चला है कि 83 प्रतिशत कर्मचारियों मानते हैं कि यदि उन्हें अधिक लचीले (फ्लेक्सिबल) ढंग से काम करने की अनुमति दी जाती है तो उनकी कंपनी में रहने की अधिक संभावना है।

लगभग 60 प्रतिशत उत्तरदाताओं ने कहा कि वे लचीले ढंग से काम के लिए एक व्यवसाय में कम वेतन स्वीकार करने के लिए भी तैयार हैं।

अध्ययन दो ऑनलाइन सर्वेक्षणों का उपयोग करते हुए आयोजित किया गया है, जिसमें 582 रिमोट वर्क डिसिजन मेकर्स और वैश्विक संगठनों से 427 कर्मचारियों को शामिल किया गया था।

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news