उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री का नया आवास 2022 तक तैयार हो जाएगा

उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री का नया आवास 2022 तक तैयार हो जाएगा

सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट के तहत उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री का नया आवास वर्ष 2022 में बनकर तैयार हो जाएगा। इन दोनों भवनों के निर्माण के लिए जरूरी क्लियरेंस सक्षम अथॉरिटी से मिल चुकी है।

सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट के तहत उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री का नया आवास वर्ष 2022 में बनकर तैयार हो जाएगा। इन दोनों भवनों के निर्माण के लिए जरूरी क्लियरेंस सक्षम अथॉरिटी से मिल चुकी है।

सेंट्रल पब्लिक वर्क्‍स डिपार्टमेंट (सीपीडब्ल्यूडी) बतौर नोडल एजेंसी ये प्रोजेक्ट पूरा कराएगी। खास बात है कि उपराष्ट्रपति और प्रधानमंत्री के नए आवास के साथ स्पेशल प्रोटेक्शन ग्रुप(एसपीजी) का भवन भी बनकर तैयार होगा।

उपराष्ट्रपति का नया आवास मई 2022 तक तो प्रधानमंत्री आवास और एसपीजी बिल्डिंग दिसंबर 2022 तक बनकर तैयार होगी। कार्ययोजना के मुताबिक, नवंबर 2022 तक नए संसद भवन का निर्माण भी पूरा होगा, वहीं वर्ष 2026 तक सेंट्रल कांफ्रेंस सेंटर भी बनकर तैयार होगा।

सूत्रों का कहना है कि नोडल एजेंसी सीपीडब्ल्यूडी ने शहरी कार्य मंत्रालय को सभी प्रोजेक्ट की डेडलाइन के बारे में जानकारी दी है।

बताया जा रहा है कि सेंट्रल विस्टा परियोजना के तहत, प्रधानमंत्री के नए निवास को मौजूदा साउथ ब्लॉक परिसर के पीछे स्थानांतरित किया जाएगा। जबकि उपराष्ट्रपति का आवास नॉर्थ ब्लाक के पीछे होगा।

कॉमन सेंट्रल सेक्रेटेरियट भी बनाने की तैयारी है। सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट के तहत बन रहे कई भवनों पर करीब 13450 करोड़ रुपये का खर्च आने की संभावना है। वहीं इस सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट के तहत भवनों के निर्माण से 46700 लोगों को रोजगार मिलने की संभावना है।

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news