Lockdown 2.0 के साथ कोराना से लड़ने के लिए PM ने दिए ये 7 सूत्र, कहा 'यही है विजय का मार्ग'
PM Narendra Modi

Lockdown 2.0 के साथ कोराना से लड़ने के लिए PM ने दिए ये 7 सूत्र, कहा 'यही है विजय का मार्ग'

कहा- तय किया गया है कि भारत में लॉकडाउन को अब 3 मई तक और बढ़ाना पड़ेगा. यानि 3 मई तक हम सभी को, हर देशवासी को लॉकडाउन में ही रहना होगा. इस दौरान हमें अनुशासन का उसी तरह पालन करना है, जैसे हम करते आ रहे हैं.

कोरोनावायरस (Coronavirus) के खिलाफ जारी जंग में अब तक जो सफलता हासिल की गई है उसे और प्रभावी तरीके से आगे बढ़ाने और कोरोना जैसे खतरनाक वायरस को मात देने के लिए प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने देशवासियों को सम्बोधित करते हुए भारत में लॉकडाउन को 3 मई तक के लिए बढ़ा दिया है. लॉकडाउन को लेकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने ताजा संबोधन में पीएम मोदी ने कहा…

''साथियों, सारे सुझावों को ध्यान में रखते हुए ये तय किया गया है कि भारत में लॉकडाउन को अब 3 मई तक और बढ़ाना पड़ेगा. यानि 3 मई तक हम सभी को, हर देशवासी को लॉकडाउन में ही रहना होगा. इस दौरान हमें अनुशासन का उसी तरह पालन करना है, जैसे हम करते आ रहे हैं. मेरी सभी देशवासियों से ये प्रार्थना है कि अब कोरोना को हमें किसी भी कीमत पर नए क्षेत्रों में फैलने नहीं देना है. स्थानीय स्तर पर अब एक भी मरीज बढ़ता है तो ये हमारे लिए चिंता का विषय होना चाहिए.''…….

पीएम मोदी ने कहा, ''हम धैर्य बनाकर रखेंगे, नियमों का पालन करेंगे तो कोरोना जैसी महामारी को भी परास्त कर पाएंगे. इसी विश्वास के साथ अंत में, मैं आज 7 बातों में आपका साथ मांग रहा.'' इसे उन्होंने एक नई ‘सप्तपदी’ का नाम दिया...

पहली बात-अपने घर के बुजुर्गों का विशेष ध्यान रखें, विशेषकर ऐसे व्यक्ति जिन्हें पुरानी बीमारी हो, उनकी हमें Extra Care करनी है, उन्हें कोरोना से बहुत बचाकर रखना है.

दूसरी बात-लॉकडाउन और Social Distancing की लक्ष्मण रेखा का पूरी तरह पालन करें, घर में बने फेसकवर या मास्क का अनिवार्य रूप से उपयोग करें.

तीसरी बात-अपनी इम्यूनिटी बढ़ाने के लिए, आयुष मंत्रालय द्वारा दिए गए निर्देशों का पालन करें, गर्म पानी, काढ़ा, इनका निरंतर सेवन करें.

चौथी बात-कोरोना संक्रमण का फैलाव रोकने में मदद करने के लिए आरोग्य सेतु मोबाइल App जरूर डाउनलोड करें. दूसरों को भी इस App को डाउनलोड करने के लिए प्रेरित करें.

पांचवी बात-जितना हो सके उतने गरीब परिवार की देखरेख करें, उनके भोजन की आवश्यकता पूरी करें.

छठी बात-आप अपने व्यवसाय, अपने उद्योग में अपने साथ काम करे लोगों के प्रति संवेदना रखें, किसी को नौकरी से न निकालें.

सातवीं बात-देश के कोरोना योद्धाओं, हमारे डॉक्टर, नर्सेस, सफाई कर्मी, पुलिसकर्मी का पूरा सम्मान करें.

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news