ट्रंप ने वोटों में धांधली का खंडन करने वाले चुनाव अधिकारी को हटाया
ताज़ातरीन

ट्रंप ने वोटों में धांधली का खंडन करने वाले चुनाव अधिकारी को हटाया

'साइबरसिक्योरिटी एंड इंफ्रास्ट्रक्चर सिक्योरिटी एजेंसी' (सिसा) के प्रमुख क्रिस क्रेब्स को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मतदान में धांधली के दावों का खंडन करने के लिए निकाल दिया गया है।

Yoyocial News

Yoyocial News

'साइबरसिक्योरिटी एंड इंफ्रास्ट्रक्चर सिक्योरिटी एजेंसी' (सिसा) के प्रमुख क्रिस क्रेब्स को अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने मतदान में धांधली के दावों का खंडन करने के लिए निकाल दिया गया है। गौरतलब है कि हाल ही में संपन्न हुए अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में ट्रंप ने धोखाधड़ी का आरोप लगाया था।

बीबीसी के मुताबिक, ट्रंप ने कहा कि उन्होंने साइबरसिक्योरिटी एंड इंफ्रास्ट्रक्चर सिक्योरिटी एजेंसी (सिसा) के प्रमुख क्रिस क्रेब्स को मतदान के बारे में 'बहुत ज्यादा गलत' टिप्पणी करने के कारण 'बर्ख़ास्त' कर दिया है।

तीन नवंबर को हुए चुनाव में ट्रंप अब तक अपनी हार को स्वीकार करने से इनकार कर रहे हैं और बिना कोई सबूत दिए मतदान में 'बड़े पैमाने पर' धोखाधड़ी होने के दावे कर रहे हैं।

हालांकि, चुनाव अधिकारियों ने इस चुनाव को अमेरिकी इतिहास का 'सबसे सुरक्षित' चुनाव बताया है।

क्रेब्स अमेरिकी राष्ट्रपति द्वारा अपनी (ट्रंप) हार के बाद बर्खास्त किए जाने वाले नवीनतम अधिकारी हैं। रक्षा मंत्री मार्क एस्पर को भी ट्रंप ने पेंटागन प्रमुख के रूप में उनकी वफादारी पर संदेह के बीच निकाल दिया था।

वाशिंगटन डीसी में अटकलें हैं कि ट्रंप के जनवरी में पद छोड़ने से पहले, सीआईए निदेशक जीना हसपेल और एफबीआई निदेशक क्रिस्टोफर रे को भी बाहर का रास्त दिखाया जा सकता है।

हालांकि, बर्खास्तगी के बावजूद क्रेब्स को अपनी राय रखने को लेकर कोई अफसोस नहीं है।

उन्होंने मंगलवार को ही एक ट्वीट कर ट्रंप के इन आरोपों पर फिर निशाना साधा कि कुछ राज्यों में वोटिंग मशीनों में उनके प्रतिद्वंद्वी जो बाइडन के पक्ष में वोट डाल दिए गए थे।

क्रेब्स ने ट्वीट किया था, "चुनाव प्रक्रिया के साथ छेड़छाड़ के आरोपों के बारे में 59 चुनाव सुरक्षा विशेषज्ञों की एक राय है कि ऐसे हरेक मामले में जिनकी हमें जानकारी है, ये दावे या तो निराधार हैं या तकनीकी तौर पर उनका कोई मतलब नहीं समझ जाता।"

क्रेब्स अमेरिका के 'डिपार्टमेंट ऑफ होमलैंड सिक्योरिटी' के उन वरिष्ठ अधिकारियों में शामिल थे जिन्होंने पिछले सप्ताह अमेरिका के चुनाव को अमेरिकी इतिहास का सबसे सुरक्षित चुनाव बताया था।

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news