Ujjain: महाकाल मंदिर के नंदीगृह में फोटो खींचने और वीडियो बनाने पर लगी रोक, प्रबंधन का फैसला

गर्भगृह में फोटो लेने के कारण भक्त ठीक से दर्शन नहीं कर पाते हैं। उधर मंदिर की दर्शन व्यवस्था में भी बदलाव किए गए हैं। भक्तों को दर्शन पर्ची मिलेगी। उन्हें बड़े गणेश मंदिर के पास आना होगा।
Ujjain: महाकाल मंदिर के नंदीगृह में फोटो खींचने और वीडियो बनाने पर लगी रोक, प्रबंधन का फैसला

देश के प्रसिद्धि ज्योतिर्लिंग महाकाल मंदिर के गर्भगृह और नंदी हाल में अब भक्त अपने फोन से न तो सेल्फी ले सकेंगे और न ही वीडियो उतार सकेंगे। पिछले दिनों उज्जैन मेयर के फोटो और एक युवती के मंदिर परिसर में रील बनाने से काफी विवाद हुआ था। अब इससे छुटकारा पाने के लिए मंदिर प्रबंधन ने गर्भ गृह में फोटो लेने पर प्रतिबंध लगा दिया है, हालांकि प्रबंधन इसके पीछे दर्शन व्यवस्था में देरी की शिकायत की वजह बता रहा है।

गर्भगृह में फोटो लेने के कारण भक्त ठीक से दर्शन नहीं कर पाते हैं। उधर मंदिर की दर्शन व्यवस्था में भी बदलाव किए गए हैं। भक्तों को दर्शन पर्ची मिलेगी। उन्हें बड़े गणेश मंदिर के पास आना होगा। यहां उनका फोटो खींचा जाएगा और फोटो व क्यूआर कोड की पर्ची मिलेगी। इसके बाद भक्त दर्शन कर सकेंगे।

गर्भगृह में दर्शन की संख्या भी सीमित 
गर्भगृह में भी भीड़ लगने के कारण आम भक्तों को दर्शन नहीं होते थे। अब गर्भगृह में संख्या भी सीमित कर दी गई है। पहले 1500 रुपये की रसीद पर गर्भगृह में दिनभर प्रवेश दिया जाता था, लेकिन दिनभर में सिर्फ 1200 भक्त ही गर्भगृह में जाकर दर्शन कर सकेंगे।

मोबाइल ले जाना प्रतिबंधित नहीं 
अभी महाकाल लोक में रोज हजारों लोग आ रहे है। वे यहां की तस्वीरें भी खींचते है। मंदिर प्रशासक संदीप सोनी ने कहा कि मंदिर में मोबाइल ले जाना प्रतिबंधित नहीं है। सिर्फ नंदी हाल और गर्भगृह में भक्त फोटो नहीं खींच सकेंगे। गर्भगृह में भी दर्शन का समय तय किया है। सुबह छह से दोपहर एक बजे और शाम छह से रात आठ बजे तक ही गर्भगृह में दर्शन हो पाएंगे।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news