उत्तर प्रदेश के बलिया गोलीकांड के आरोपी धीरेंद्र का वीडियो वायरल, बताया बेकसूर
ताज़ातरीन

उत्तर प्रदेश के बलिया गोलीकांड के आरोपी धीरेंद्र का वीडियो वायरल, बताया बेकसूर

अब इस गोलीकांड के मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह का एक वीडियो वायरल हो रहा है। जिसमें उसने सफाई देकर अपने को बेकसूर बताया है।

Yoyocial News

Yoyocial News

उत्तर प्रदेश के बलिया जिले में हुए गोलीकांड में जहां एक ओर विपक्ष सरकार को घेर रहा है। इस मामले में भाजपा विधायक सुरेंद्र सिंह के बयान ने सरकार को सकते में डाल रखा है।

अब इस गोलीकांड के मुख्य आरोपी धीरेंद्र प्रताप सिंह का एक वीडियो वायरल हो रहा है। जिसमें उसने सफाई देकर अपने को बेकसूर बताया है।

बलियाकांड के आरोपी धीरेंद्र ने वीडियो में पुलिस पर बड़ा आरोप लगाया। आरोपी ने कहा कि अधिकारियों को पत्र देकर कहा था कि बिना सुरक्षा के बैठक करना ठीक नहीं है। अधिकारियों ने प्रधान से पैसा लेकर बैठक कराई।

इसके साथ ही धीरेंद्र प्रताप सिंह ने मांग की है कि इस पूरे मामले की उचित होनी चाहिए। अपने बयान में धीरेंद्र प्रताप ने कहा है कि कल राशन की दुकानों का आवंटन होता था और इसी वजह से कई अधिकारी मौके पर आवंटन प्रक्रिया के लिए आए हुए थे। मैंने भी इसी मामले को लेकर एसडीएम और बीडीओ से मुलाकात की थी।

धीरेंद्र प्रताप ने कहा है कि उसने अधिकारियों को अवगत कराया था कि क्षेत्र में चीजें काफी खराब थीं। इसके साथ ही उसने एसडीएम, बीडीओ और अन्य अधिकारियों पर भ्रष्टाचार के आरोप भी लगाए हैं। धीरेंद्र प्रताप का आरोप है कि वे लोग आवंटन प्रक्रिया को प्रभावित कर रहे थे।

उसने कहा, "मुझे नहीं पता कि किसने गोली चलाई। मैं अपने परिवार को बचाने के लिए अधिकारियों से गुहार लगा रहा था। वे वहीं खड़े रहे और देखते रहे। मैं एक सैनिक हूं। मैंने हमेशा अपने देश की सेवा करने में विश्वास किया है। मैं मुख्यमंत्री से निष्पक्ष जांच के लिए आग्रह करता हूं।"

धीरेंद्र ने कहा कि मैंने बैठक के लिए पर्याप्त सुरक्षाबल के लिए अनुरोध किया था। इसकी अनदेखी के लिए स्थानीय अधिकारी और पुलिस दोषी है।

उसने कहा, "मेरे वृद्ध पिता कल हंगामे में गिर गए। मेरे परिवार को लाठियों से पीटा गया। मुझे वीडियो में पिटते हुए देखा गया। मैं एक राजपूत हूं। मैंने गर्व से 18 साल तक सेना की सेवा की। मैं खुद को मुक्त करने और भागने में कामयाब रहा। वे मुझे वहां पीट-पीटकर मारना चाहते थे।"

धीरेंद्र ने कहा कि बैठक के लिए बहुत सारे शीर्ष अधिकारी मौजूद थे। मैंने पहले ही उन्हें आगाह कर दिया था कि हिंसा होने वाली हैं। लेकिन वे बैठक करते रहे। अधिकारी हिंसा में शामिल थे। उन्होंने पैसे ले लिए।

ज्ञात हो कि उत्तर प्रदेश में बलिया जिले के दुर्जनपुर में गुरुवार को अफसरों के सामने ग्रामीण की हत्या का आरोपी धीरेंद्र सिंह की पुलिस को तीसरे दिन भी तलाश है। अब पुलिस ने आरोपी पर 50 हजार का इनाम घोषित किया है।

इसके साथ आजमगढ़ रेंज के डीआईजी सुभाष चंद दुबे ने 6 नामजद फरार आरोपियों पर भी 50 हजार रुपए का इनाम घोषित किया है।

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news