पश्चिम रेलवे ने पहल कर रेलवे अस्पतालों में स्थापित किये PSA ऑक्सीजन प्लांट्स

मानवीय दृष्टिकोण और सेवा की भावना के साथ चिकित्सा विभाग की गहन योजना ने पश्चिम रेलवे को कोविड महामारी के खिलाफ एक मजबूत लड़ाई लड़ने में मदद की।
पश्चिम रेलवे ने पहल कर रेलवे अस्पतालों में स्थापित किये PSA ऑक्सीजन प्लांट्स

पश्चिम रेलवे अत्याधुनिक तकनीकों को अपनाने, उपचार की नवीनतम चिकित्सा प्रक्रियाओं और कोविड-19 रोगियों के उपचार के लिए एक मजबूत बुनियादी ढाँचा बनाने में सबसे आगे है।

कोरोनावायरस महामारी के खिलाफ अपनी सबसे महत्वपूर्ण लड़ाई में, पश्चिम रेलवे ने अपने चिकित्सा विभाग को मजबूत और एक लक्ष्य के लिए समर्पित कर चिकित्‍सा के क्षेत्र में स्‍वयं अपनी पूर्व की उपलब्धियों को भी पीछे छोड़ दिया है।

मानवीय दृष्टिकोण और सेवा की भावना के साथ चिकित्सा विभाग की गहन योजना ने पश्चिम रेलवे को कोविड महामारी के खिलाफ एक मजबूत लड़ाई लड़ने में मदद की।

7 अक्टूबर, 2021 को माननीय प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने ऋषिकेश, उत्तराखंड के एम्स में आयोजित एक कार्यक्रम में 35 प्रेशर स्विंग एब्‍जॉर्पशन (पीएसए) ऑक्सीजन जेनरेटर प्लांट समर्पित किए। ये संयंत्र देश के 35 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों में PM CARES के तहत स्थापित किए गए हैं।

माननीय प्रधानमंत्री ने राष्ट्र के नाम अपने प्रभावशाली उद्बोधन में कहा कि भविष्य में कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई की तैयारियों को मजबूत करने के लिए देश भर में पीएसए ऑक्सीजन प्लांट्स का एक नेटवर्क तैयार किया जा रहा है। प्रधानमंत्री जी ने यह भी कहा कि पिछले कुछ महीनों में पीएम केयर्स के तहत स्वीकृत 1150 से अधिक ऑक्सीजन प्लांट देश भर में चालू किए गए हैं।

माननीय प्रधानमंत्री ने कहा कि सामान्य दिनों में भारत एक दिन में 900 मीट्रिक टन लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन का उत्पादन करता था। जैसे-जैसे मांग बढ़ी, भारत ने मेडिकल ऑक्सीजन के उत्पादन में 10 गुना से अधिक की वृद्धि की। उन्होंने कहा कि यह दुनिया के किसी भी देश के लिए एक अकल्पनीय लक्ष्य था, लेकिन भारत ने इसे हासिल कर लिया है। पीएसए ऑक्सीजन प्लांटों के इस समर्पण के साथ, देश के सभी जिलों में कम से कम एक पीएसए प्लांट है।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.