corona virus in India
corona virus in India
ताजा तरीन

भारत में कोरोना के मरीज़ सबसे कम क्यों? ये है बड़ी वजह...

अब तक दुनिया भर में तीन लाख से ज्यादा लोग कोरोना पॉजिटिव पाए जा चुके हैं, जबकि भारत में यह आंकड़ा 386 तक ही पहुंचा हैं, जबकि भारत में अब तक सबसे कम मरीज पाए गए हैं. ऐसा क्यों?

Yoyocial News

Yoyocial News

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप ने बढ़ते पूरी दुनिया को अपनी चपेट में ले लिया है, जिसके बाद हर देश में महामारी की स्थिति पैदा हो सकती है. इन देशों में इटली की संख्या सबसे ज्यादा है जहां सबसे ज्यादा कोरोना के मरीज हैं. अब तक दुनिया भर में तीन लाख से ज्यादा लोग कोरोना पॉजिटिव पाए जा चुके हैं, जबकि भारत में यह आंकड़ा 386 तक ही पहुंचा हैं, जबकि भारत में अब तक सबसे कम मरीज पाए गए हैं लेकिन इस बात में भी यह आशंका जताई जा रही है कि भारत में आखिर कोरोना के मरीज कम क्यों हैं.

भारत में कोरोना के मरीजों की संख्या देखते हुए इस बात की पुष्टि की गई तो पता चला कि इसकी वजह यह है कि भारत में कोरोना वायरस की ज्यादा जांच नहीं हो पा रही है, जिसके चलते कोरोना वायरस के सटीक आंकड़े सामने नहीं आ पा रहे हैं. आईसीएमआर भारत में कोरोना वायरस की जांच के लिए सिर्फ 111 सरकारी लैब हैं. अब निजी लैब को भी कोरोना की जांच की इजाजत दे दी गई है.

भारत में कोरोना के मरीज़ सबसे कम क्यों? ये है बड़ी वजह...

इंडियन काउंसिल ऑफ मेडिकल रिसर्च (ICMR) के आंकड़े के मुताबिक जब भारत में 16 हजार 109 लोगों के कोरोना की जांच हुई, तब 341 लोग कोरोना पॉजिटिव पाए गए. वहीं, जब अमेरिका में एक लाख 41 हजार 591 लोगों के कोरोना की जांच की गई और कोरोना के 26 हजार 905 मामले पॉजिटिव आए.

इसी तरह जब इटली में 2 लाख 6 हजार 886 लोगों के कोरोना की जांच की गई, तो 53 हजार 578 मामले सामने आए. दक्षिण कोरिया में तीन लाख 16 हजार 664 लोगों के कोरोना की जांच की गई, तो 8 हजार 897 पॉजिटिव मामले सामने आए. जब फ्रांस में 36 हजार 747 लोगों की जांच गई और 14 हजार 459 लोग पॉजिटिव पाए गए.

इन आंकड़ों से एक बात तो साफ होती है कि भारत में कोरोना वायरस की जांच की संख्या बढ़ने के साथ पॉजिटिव मामलों की संख्या भी बढ़ सकती है. कोरोना की जांच करने के बाद कोरोना वायरस मरीजों के पॉजिटिव होने की संख्या धीरे-धीरे बढ़ती ही जा रही है.

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news