दिल्ली में दर्ज हुआ सीजन का सबसे खराब वायु गुणवत्ता सूचकांक
ताज़ातरीन

दिल्ली में दर्ज हुआ सीजन का सबसे खराब वायु गुणवत्ता सूचकांक

केंद्रीय प्रदूषण बोर्ड के आंकड़ों के अनुसार, राष्ट्रीय राजधानी का वायु गुणवत्ता सूचकांक मंगलवार सुबह 304 अंकों के साथ 'बेहद खराब' श्रेणी में दर्ज किया गया। वायुगुणवत्ता के लिहाज से मंगलवार का दिन सीजन का सबसे खराब दिन रहा।

Yoyocial News

Yoyocial News

केंद्रीय प्रदूषण बोर्ड के आंकड़ों के अनुसार, राष्ट्रीय राजधानी का वायु गुणवत्ता सूचकांक मंगलवार सुबह 304 अंकों के साथ 'बेहद खराब' श्रेणी में दर्ज किया गया। वायुगुणवत्ता के लिहाज से मंगलवार का दिन सीजन का सबसे खराब दिन रहा।

दिल्ली-एनसीआर में हर सर्दियों में वायु प्रदूषण चरम तक पहुंच जाता है, जिससे यहां के निवासियों के लिए स्वास्थ्य के लिहाज से खतरा पैदा होता है।

प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अनुसार, 36 प्रदूषण निगरानी स्टेशनों में से 19 स्टेशनों में वायु गुणवत्ता सूचकांक 'बहुत खराब' श्रेणी में दर्ज किया गया, वहीं 14 स्टेशनों ने सूचकांक को 'खराब' श्रेणी में दर्ज किया, जबकि एक ने इसे 'मध्यम' श्रेणी रिकॉर्ड किया है।

उत्तर पश्चिम दिल्ली के वजीरपुर के पास के क्षेत्र में सर्वाधिक एक्यूआई 379 दर्ज किया गया, इसके बाद द्वारका सेक्टर 8 और मुंडका में एक्यूआई 364 रहा। वहीं लोधी रोड पर एक्यूआई 193 रहा, जो कि राजधानी का सबसे अधिक स्वच्छ क्षेत्र रहा।

दिल्ली के पड़ोसी क्षेत्रों, गाजियाबाद, फरीदाबाद, नोएडा और ग्रेटर नोएडा में भी हवा की गुणवत्ता बहुत खराब दर्ज की गई। वर्तमान में ग्रेटर नोएडा की हवा इन सभी में सबसे अधिक प्रदूषित है।

भारत मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार, प्रदूषकों में वृद्धि, हवा की कम गति का यह परिणाम है, इसके अलावा पड़ोसी राज्यों पंजाब और हरियाणा में पराली की वजह से प्रदूषण और बढ़ रहा है।

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news