UP Election 2022: विधानसभा चुनाव से पहले अखिलेश यादव को बड़ा झटका, सपा एमएलसी शतरुद्र प्रकाश भाजपा में शामिल

समाजवादी पार्टी(सपा) के वरिष्ठ नेता और वाराणसी से चार बार विधायक रहे शतरुद्र प्रकाश शुक्रवार को भाजपा में शामिल हो गए। समाजवादी पार्टी से विधान परिषद सदस्य शतरुद्र प्रकाश पहली बार 1974 में विधायक बने थे।
UP Election 2022: विधानसभा चुनाव से पहले अखिलेश यादव को बड़ा झटका, सपा एमएलसी शतरुद्र प्रकाश भाजपा में शामिल

समाजवादी पार्टी(सपा) के वरिष्ठ नेता और वाराणसी से चार बार विधायक रहे शतरुद्र प्रकाश शुक्रवार को भाजपा में शामिल हो गए। समाजवादी पार्टी से विधान परिषद सदस्य शतरुद्र प्रकाश पहली बार 1974 में विधायक बने थे।

प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और ज्वाइंनिंग कमेटी के अध्यक्ष लक्ष्मीकांत वाजपेयी, सदस्य दयाशंकर सिंह और मीडिया प्रभारी मनीष दीक्षित की मौजूदगी में उन्होंने भाजपा की सदस्यता ग्रहण की। इस दौरान स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि शतरुद्र प्रकाश का छात्र जीवन बहुत संघर्षों का रहा है।

उन्होंने समाज के लिए लड़ते-लड़ते अपना जीवन समर्पित किया है। चाहे लोहिया जी हो, राज नारायण जी हो या मुलायम सिंह यादव हो सभी के साथ इन्होंने संघर्ष किया। 1970 से लेकर अलग-अलग आंदोलनों में इन्होंने बड़ी भूमिका निभाई। उन्होंने कई बार गिऱफ्तारियां दी और लेकिन संघर्ष से पीछे नहीं हटे।

स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि वो दो बार मंत्री भी रहे हैं। इसके बाद अलग-अलग बोर्ड के अध्यक्ष भी रहे हैं। गंगा की सफाई के लिए अभियान में हिस्सा लिया। शतरुद्र प्रकाश ने काशी कोरिडोर के उद्घाटन और काशी के कायाकल्प से प्रभावित होकर भाजपा की सदस्यता ली है। स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि इनके जैसा व्यक्तित्व आज भाजपा में ज्वाइन कर रहा है जिससे भाजपा का भी कद बढ़ेगा।

भाजपा नेता लक्ष्मी कांत बाजपेई ने कहा कि 20 बार जेल और 30 बार गिरफ्तारियां देने वाले प्रकाश तिहाड़ तक गए। समाजवादी संघर्ष के पुरोधा रहे हैं। समाजवाद का जब मार्ग भटका तो प्रधानमंत्री मोदी से प्रभावित होकर वो आज भाजपा में शामिल हो रहे हैं।

शतरुद्ध प्रकाश ने कहा, मैं आभार प्रकट करना चाहूंगा कि आज भाजपा का साधारण सदस्य बन गया हूं। 1963 से लेकर आज तक मैंने गैर कोंग्रेस की राजनीति की है। आज राज नारायण की पुण्यतिथि है। आज भी दो धराएं निकली थी, एक थी भाजपा की और एक सोशलिस्ट आंदोलन की। मुझे आज कहना पड़ रहा है कि सोशलिस्ट आंदोलन अपने पथ से हर गया है। आज काशी विष्वनाथ धाम भारत की अस्मिता के रूप में सामने आया है।

ज्ञात हो कि सोशलिस्ट पार्टी से अपने राजनीतिक सफर की शुरूआत करने वाले शतरुद्र सपा के संस्थापक सदस्यों में रहे हैं। चार बार वाराणसी कैंट से विधायक चुने गए शतरुद्र मुलायम सरकार में कैबिनेट मंत्री भी रहे। भारतीय जनता पार्टी की ज्वाइनिंग कमेटी के प्रमुख डॉ. लक्ष्मीकांत वाजपेयी ने शतरुद्र प्रकाश को लखनऊ में भाजपा के प्रदेश मुख्यालय में पार्टी की सदस्यता दिलाई।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news