Atiq Ashraf Murder: गोली लगने के बाद कई मिनट तक तड़पता रहा था अतीक अहमद, अशरफ ने तुरंत तोड़ दिया दम

अतीक के सिर में पहली गोली लगी तो वह वहीं गिर गया। इसके बाद भी हमलावरों ने उसे ताबड़तोड़ आठ गोलियां मारी गईं। हालांकि गोलियां लगने के कुछ मिनट बाद तक वह तड़पता रहा।
Atiq Ashraf Murder: गोली लगने के बाद कई मिनट तक तड़पता रहा था अतीक अहमद, अशरफ ने तुरंत तोड़ दिया दम

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में शनिवार की देर रात माफिया अतीक अहमद और उसके भाई अशरफ की हत्या कर दी गई। कॉल्विन अस्पताल के पास अतीक अहमद और अशरफ पर जिस वक्त गोलियों से हमला किया गया, उन्हें पुलिस वाले और मीडियाकर्मी घेरे हुए थे। जैसे ही गोलियां चलने लगीं, वहां मौजूद पुलिस और अन्य लोग जान बचाने के लिए इधर-उधर भागने लगे। 

जैसे ही अतीक के सिर में पहली गोली लगी तो वह वहीं गिर गया। इसके बाद भी हमलावरों ने उसे ताबड़तोड़ आठ गोलियां मारी गईं। हालांकि गोलियां लगने के कुछ मिनट बाद तक वह तड़पता रहा।

उसकी सांसें चल रहीं थीं लेकिन जब तब डॉक्टर आकर चेकअप करते तब तक अतीक की मौत हो गई थी। अशरफ को भी पहली गोली सिर में लगी थी। उसे कुल छह गोलियां मारी गईं। मौके पर मौजूद पुलिस अधिकारियों ने बताया कि अशरफ की तुरंत ही मौत हो गई थी।

आपको बता दें कि कॉल्विन अस्पताल परिसर में शनिवार की रात अतीक को आठ गोलियां और अशरफ को छह गोलियां मारी गई थीं। तीन गोलियां अशरफ के शरीर में फंसी रह गईं। पोस्टमार्टम में इस बात का भी खुलासा हुआ है कि दोनों के शरीर पर गिरने के कारण भी चोट लगी थी। 

पांच डॉक्टरों के पैनल ने देर शाम दोनों के शवों का पोस्टमार्टम किया गया। ससुर और बहनोई को अतीक का शव और भांजे को अशरफ का शव सौंपा गया। पोस्टमार्टम के बाद अतीक के दो नाबालिग बेटे एंबुलेंस में शव के साथ रहे। 

रविवार शाम को पोस्टमार्टम से पहले अतीक और अशरफ के नजदीकी रिश्तेदारों को बुलवा लिया गया था। अतीक के दोनों बेटे भी बाल गृह से लाए गए। पुलिस ने कागजी कार्रवाई में दिन भर लगा दिया था। उसका प्रयास था कि पोस्टमार्टम होते-होते शाम हो जाए, ताकि रात में अंत्येष्टि के दौरान कब्रिस्तान में ज्यादा लोग न जुटें। 

डॉ. दीपक तिवारी की अगुवाई में डॉ. बद्री विशाल, डॉ. सोनू समेत पांच डाक्टरों के पैनल ने पोस्टमार्टम किया। अतीक को आठ गोलियां मारी गईं थीं। अशरफ को छह गोलियां लगीं थीं। तीन गोलियां शरीर में ही दो टुकड़ों में मिली थीं। पोस्टमार्टम के बाद अतीक के शव को उसके ससुर और बहनोई को सौंप दिया गया था। अशरफ का शव करीब आधा घंटे बाद भेजा गया। उसका शव भांजे को सौंपा गया था।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news