RBI ने इन 5 बैंकों पर लगाया लाखों का जुर्माना, इस बड़ी वजह से की गयी कार्रवाई

आरबीआई ने एक बयान में यह जानकारी देते हुए कहा कि बेंगलुरु स्थित कर्नाटक स्टेट कोऑपरेटिव एपेक्स बैंक पर 25 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है.
RBI ने इन 5 बैंकों पर लगाया लाखों का जुर्माना, इस बड़ी वजह से की गयी कार्रवाई

भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) ने नियामकीय प्रावधानों के अनुपालन में खामी को लेकर पांच सहकारी बैंकों पर जुर्माना लगाया है.

आरबीआई ने एक बयान में यह जानकारी देते हुए कहा कि बेंगलुरु स्थित कर्नाटक स्टेट कोऑपरेटिव एपेक्स बैंक पर 25 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है.

उसे आवासीय वित्त संबंधी बैंकिंग प्रावधानों का पालन नहीं करने का दोषी पाया गया है. इसके अलावा ठाणे भारत सहकारी बैंक लिमिटेड पर 15 लाख रुपये का जुर्माना अनधिकृत इलेक्ट्रॉनिक बैंकिंग लेनदेन में ग्राहक हितों का ध्यान नहीं रखने की वजह से लगाया गया है.

आरबीआई ने झांसी स्थित रानी लक्ष्मीबाई अर्बन कोऑपरेटिव बैंक पर पांच लाख रुपये, तमिलनाडु के तंजौर स्थित निकोल्सन कोऑपरेटिव टाउन बैंक पर दो लाख रुपये और राउरकेला स्थित द अर्बन कोऑपरेटिव बैंक पर 10,000 रुपये का जुर्माना लगाया है.

केंद्रीय बैंक ने कहा कि इन सहकारी बैंकों पर जुर्माना लगाने का फैसला बैंकिंग नियामक के नियमों के प्रावधानों का उल्लंघन करने के आधार पर लिया गया है.

इससे पहले आरबीआई ने एक बड़ी कार्रवाई के तहत विशाखापट्टनम कोऑपरेटिव बैंक लिमिटेड के खिलाफ 55 लाख रुपये का जुर्माना लगाया था. एसेट क्लासिफिकेशन के नियमों में ढिलाई को लेकर इस सहकारी बैंक पर रिजर्व बैंक ने कार्रवाई की थी.

दिशा-निर्देशों का उल्लंघन पाए जाने के बाद रिजर्व बैंक ने विशाखापट्टनम कोऑपरेटिव बैंक के खिलाफ कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए जवाब मांगा. नोटिस में पूछा गया कि सहकारी बैंक को बताना चाहिए कि निर्देशों का पालन नहीं किए जाने पर उसके खिलाफ कार्रवाई क्यों नहीं होनी चाहिए.

इसके बाद आरबीआई और विशाखापट्टनम कोऑपरेटिव बैंक के बीच पर्सनल हियरिंग शुरू हुई जिसमें सहकारी बैंक ने अपनी बात रखी. बैंक के जवाब से आरबीआई संतुष्ट नहीं हुआ और उसने विशाखापट्टनम कोऑपरेटिव बैंक के खिलाफ 55 लाख रुपये का जुर्माना लगाया.

हालांकि रिजर्व बैंक ने साफ कर दिया कि जुर्माना लगाने से ग्राहक और बैंक के बीच के बिजनेस पर कोई असर नहीं होगा और बैंकिंग का काम पहले की तरह चलता रहेगा. लेनदेन या लोन आदि के नियमों में कोई बदलाव नहीं होगा.

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news