प्राकृतिक सुंदरता देखनी है तो बना लें घूमने का प्लान, जानें हिमाचल प्रदेश के 10 सबसे खास पर्यटन स्थल के बारे में

हिमाचल भारत में पर्यटकों के लिए खास राज्य है यहां की निर्मल झीलें, ऊंचे पहाड़ और प्राचीन मंदिर पर्यटकों को बेहद आकर्षित करते हैं। अपनी ऊँची-ऊँची घाटियों और पहाड़ियों के साथ हिमाचल की प्राकृतिक सुंदरता यहां आने वाले लोगो को शांति प्रदान करती है।
प्राकृतिक सुंदरता देखनी है तो बना लें घूमने का प्लान, जानें हिमाचल प्रदेश के 10 सबसे खास पर्यटन स्थल के बारे में

हिमाचल प्रदेश भारत का एक बहुत ही प्रमुख राज्य है जो अपनी असीम सुंदरता, पर्यटन स्थल और अपनी आकर्षक जगहों के लिए जाना-जाता है।

हिमाचल भारत में पर्यटकों के लिए खास राज्य है यहां की निर्मल झीलें, ऊंचे पहाड़ और प्राचीन मंदिर पर्यटकों को बेहद आकर्षित करते हैं। अपनी ऊँची-ऊँची घाटियों और पहाड़ियों के साथ हिमाचल की प्राकृतिक सुंदरता यहां आने वाले लोगो को शांति प्रदान करती है।

हिमाचल प्रदेश की सीमा पूर्व में उत्तरांचल, उत्तर में जम्मू-कश्मीर, पश्चिम में पंजाब, दक्षिण में उत्तर प्रदेश से लगी है। हिमाचल प्रदेश में सेबों का उत्पादन काफी ज्यादा होता है जिसकी वजह से इसे सेब के राज्य के रूप में जाना जाता है।

हिमाचल प्रदेश का अनुकूल वातावरण, सुरम्य प्राकृतिक दृश्य, रंगीन संस्कृति, साहसिक खेल, दर्शनीय स्थल और विभिन्न प्रकार के मेले त्योहार और समारोह बेहद खास हैं। हिमाचल प्रदेश पर्यटकों के साथ-साथ तीर्थयात्रियों का भी बेहद पसंदीदा स्थल है।

हिमाचल प्रदेश का इतिहास :-

हिमाचल प्रदेश का इतिहास काफी हद तक उत्तर भारत के इतिहास से मेल खाता है। इस क्षेत्र को प्रागैतिहासिक मनुष्यों द्वारा बसाया गया था और यह सिंधु घाटी सभ्यता के काल में महत्वपूर्ण क्षेत्रों में से एक था। मौर्य, हर्ष और दिल्ली सल्तनत ने यहां मुगलों के आने से पहले राज किया था।

जो यहाँ के सुंदर परिदृश्य देखकर बेहद आकर्षित हुए थे और उन्होंने इस क्षेत्र में गर्मियों में रहने के घरों का निर्माण किया था। अंग्रेजो ने भी यहां आने के बाद उसी प्रवृत्ति को दोहराया और वो गर्म इलाकों को छोड़कर यहाँ के ठंडे शांत में बस गए। भारत की स्वतंत्रता के बाद 1950 में संविधान लागू होने पर हिमाचल प्रदेश को एक राज्य बना दिया गया।

शिमला हिमाचल प्रदेश दर्शनीय स्थल :-

शिमला हिमाचल प्रदेश की राजधानी है और यह उत्तरी भारत का सबसे लोकप्रिय हिल स्टेशन भी है। शिमला की मॉल रोड, रिज, टॉय ट्रेन और औपनिवेशिक वास्तुकला यहाँ आने वाले पर्यटकों, हनीमूनर्स और परिवारों के बीच काफी लोकप्रिय है। शिमला 2200 मीटर की ऊंचाई पर स्थित देश के सबसे प्रसिद्ध पर्यटन स्थलों में से एक है।

खूबसूरत पहाड़ियों और रहस्यमयी जंगलो के बीच शिमला भारत की सबसे खूबसूरत जगह है। शिमला में कई ऐतिहासिक मंदिरों के साथ ही औपनिवेशिक शैली की इमारतें भी हैं। शिमला को ब्रिटिश भारत की पूर्ववर्ती ग्रीष्मकालीन राजधानी कहा जाता है और इस शहर की मनोरम प्राकृतिक सुंदरता और वातावरण किसी भी पर्यटक को दोबारा यहां आने के लिए मजबूर करता है।

मनाली, हिमाचल प्रदेश दर्शनीय स्थल :-

मनाली पीर पंजाल और धौलाधार पर्वतमाला के बर्फ से ढकी ढलानों के बीच स्थित देश के सबसे लोकप्रिय हिल स्टेशनों में से एक है। मनाली समुद्र तल से 1950 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है जो हिमाचल प्रदेश के कुल्लू जिले का एक हिस्सा है। मनाली अपने हरे भरे जंगल, फूलों के साथ बिछी घास के मैदानों, नीले रंग की धाराओं और ताजगी की लगातार खुशबू के साथ एक असाधारण प्राकृतिक स्थल है।

मनाली प्रकृति से प्रेम करने वाले पर्यटकों और प्रेमी जोड़ो के लिए जन्नत के सामान है। इस हिल स्टेशन पर संग्रहालयों से लेकर मंदिरों तक, नदी के रोमांच से लेकर ट्रेकिंग ट्रेल्स तक, गांवों से लेकर ऊबड़-खाबड़ गलियों तक यहां आने पर्यटकों को अपनी तरफ खींचती है। कुल्लू नदी के बहते पानी की आवाज और पक्षियों की आवाज़े आपको अपनी ओर आकर्षित करेगी।

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश :-

धर्मशाला हिमाचल प्रदेश का एक बेहद खास पर्यटक स्थल है जो काँगड़ा से 17 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। धर्मशाला को कांगड़ा घाटी का प्रवेश मार्ग माना जाता है। यहाँ की बर्फ से ढके धौलाधार पर्वत श्रृंखला इस जगह को बेहद खास बनाते हैं। धर्मशाला को दलाई लामा के पवित्र निवास स्थान के रूप में भी जाना जाता है।

यह शहर अलग-अलग ऊंचाई के साथ ऊपरी और निचले डिवीजनों में बांटा गया है। इसके निचले हिस्से में धर्मशाला शहर और ऊपरी डिवीजन को मैकलोडगंज के नाम से जाना जाता है। तिब्बती हब होने के नाते धर्मशाला को बौद्ध धर्म और तिब्बती संस्कृति को सीखने और जानने के लिए हिमाचल प्रदेश की एक बेहद खास जगह है।

स्पीति घाटी हिमाचल प्रदेश :-

हिमाचल प्रदेश में स्थित स्पीति घाटी हर तरफ से हिमालय से घिरा हुआ है जो समुद्र तल से 12,500 फीट की ऊंचाई पर स्थित है। स्पीति घाटी के ठंडे रेगिस्तान, बर्फ से ढके पहाड़, घुमावदार सड़कें और सुरम्य घाटियाँ यहाँ आने वाले पर्यटकों को बेहद उत्साहित करती हैं।

हिमाचल प्रदेश की यह एक ऐसी जगह है जहाँ पर वर्ष में लगभग 250 दिन धूप मिलती है, जिससे यह देश के सबसे ठंडे स्थानों में से एक है। स्पीति आप मोटरगाड़ी से सिर्फ गर्मी के दिनों में ही जा सकते हैं और साल के लगभग 6 महीने यह जगह मोटी बर्फ से ढकी होती है।

कसौली हिमाचल प्रदेश :-

कसौली हिमाचल प्रदेश के सबसे खास पर्यटक स्थलों में से एक हैं। कसौली चंडीगढ़ से शिमला के रास्ते में स्थित पहाड़ी शहर है, जो शहरों की भीड़ से दूर एक आदर्श शांतिपूर्ण स्थान है। कसौली हिमाचल के दक्षिण-पश्चिम भाग में एक छोटा सा शहर है जो हिमालय पर्वत के निचले किनारों पर स्थित है।

देवदार के सुंदर जंगलो के बीच स्थित कसौली अंग्रेजो द्वारा बनाई गई भव्य विक्टोरियन इमारतों के लिए रहस्यों के लिए भी जाना जाता है। इस क्षेत्र में घने जंगलों में जीवों की कई लुप्तप्राय प्रजातियाँ पाई जाती है, कसौली का शांत वातावरण और आकर्षक शांति इस जगह को हिमाचल के सबसे खास पर्यटन स्थलों में से एक बनाता है।

कसौली, सोलन पूरे वर्ष एक सुखद जलवायु के साथ धन्य क्षेत्र है, सोलन जिला मुख्यालय है और शूलिनी देवी का प्रसिद्ध मंदिर है। सोलन में जटोली गाँव और भगवान शिव के मंदिर और राजगढ़ रोड पर बौद्ध डोलनजी बॉन मठ को देखा जा सकता है।

“भारत के मशरूम शहर” के रूप में विख्यात, सोलन में एक पुरानी शराब की भठ्ठी और नौणी में एक विशाल बागवानी और वानिकी विश्वविद्यालय है। राजगढ़ बागों, खुबानी और आड़ू जैसे फल उगाने वाले बागों से भरा है, कसौली, सोलन के रास्ते में आप गौरा में मछली पकड़ने के लिए रुक सकते हैं।

किन्नौर हिमाचल प्रदेश :-

किन्नौर को “लैंड ऑफ गॉड” के रूप में भी जाना जाता है जो शिमला से लगभग 235 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है। किन्नौर सतलुज, बसपा और स्पीति नदी के बीच स्थित ऐसी जगह है जो अपने हरे-भरे और चट्टानी पहाड़ों की सुंदरता के लिए काफी प्रसिद्ध है। यह हिंदू और बौद्ध धर्म के भाई-चारे की जगह एक अलग तरह की संस्कृति के अस्तित्व को दर्शाती है।

जो भी हिंदू पर्यटक इस जगह पर आते है तो वे प्रसिद्ध किन्नर कैलाश को देखने जरुर जाते हैं। बताया जाता है कि किन्नर कैलाश भगवान शिव और शिवलिंग का है और इसके साथ ही पांडवों की कहानियों से भी इसका संबंध बताया जाता है। किन्नौर में आसपास में पुराने बौद्ध मठ और मंदिर भी हैं जो अपने आप में एक अलग महत्व रखते हैं और बौद्धों द्वारा पूजे भी जाते हैं।

रिवालसर झील मंडी हिमाचल प्रदेश :-

मंडी हिमाचल प्रदेश का ऐतिहासिक शहर है जो ब्यास नदी के किनारे बसा है। यह लंबे समय से एक महत्वपूर्ण वाणिज्यिक केंद्र रहा है और ऋषि मांडव के बारे में कहा जाता है कि वे यहां ध्यान करते थे। मंडी रियासत की यह एक समय की राजधानी और तेजी से विकासशील शहर है जो अभी भी अपने मूल आकर्षण और चरित्र को बनाए रखे है। आज, यह एक जिला मुख्यालय है। मंडी अपने 81 पुराने पत्थर के मंदिरों और बेहतरीन नक्काशी के लिए प्रसिद्ध है, इसे अक्सर ‘हिल्स का वाराणसी’ कहा जाता है।

इस शहर में पुराने महल और ‘औपनिवेशिक’ वास्तुकला के उल्लेखनीय उदाहरण हैं। भूतनाथ, त्रिलोकीनाथ, पंचवक्त्र और श्यामकली के मंदिर रिवालसर मंडी में अधिक प्रसिद्ध हैं। मंडी में सप्ताह भर चलने वाला अंतर्राष्ट्रीय शिवरात्रि मेला हर साल क्षेत्र का प्रमुख आकर्षण होता है। वर्ष 2013 में यह मेला मार्च में मनाया गया था। मेला शाम को सांस्कृतिक कार्यक्रमों जैसे प्रदर्शनियों, प्रदर्शनियों, खेलों आदि में पर्यटकों के साथ-साथ स्थानीय लोगों को भी आकर्षित करता है।

बिलिंग घाटी बिलिंग हिमाचल प्रदेश :-

बीर बिलिंग हिमाचल प्रदेश राज्य में स्थित एक छोटा शहर है जो रोमांचकारी खेलों जैसे पैराग्लाइडिंग, ट्रेक और मैडिटेशन के लिए जाना-जाता है। बीर को पैराग्लाइडिंग के लिए दुनिया के सबसे अच्छे स्थानों में से एक है जो हर साल वर्ल्ड पैराग्लाइडिंग चैंपियनशिप की मेजबानी भी करता है।

इसमें टेक-ऑफ साइट को बिलिंग कहा जाता है और लैंडिंग साइट बीर कहते है। हिमाचल प्रदेश का बीर शहर मैडिटेशन के लिए भी जाना-जाता है और यहाँ पर मैडिटेशन का एक प्रमुख केंद्र भी है।

कुफरी हिमाचल प्रदेश :-

कुफरी हिमाचल प्रदेश के सबसे खास पर्यटक स्थलों में से एक है जो छुट्टी मानने वाले स्थानों में सबसे ज्यादा मांग वाली जगह है। कुफरी, शिमला से लगभग 10 किमी दूर है। यदि आप शिमला आ रहे हैं तो इस जगह घूमने के लिए जरुर जायें।

कुफरी अधिक ऊंचाई पर होने के कारण यहाँ सर्दियों के दौरान सभी जगह बर्फ नज़र आती है। वैसे तो कुफरी में ज्यादा कुछ देखने लायक नहीं है लेकिन यहाँ के मंदिर और मनोरम दृश्य इस जगह को बेहद खास बनाते हैं। कुफरी शिमला आने वाले पर्यटकों के लिए एक सपोर्ट के रूप में जाना-जाता है इसलिए यहां अपेक्षाकृत भीड़ ज्यादा रहती है।

कुल्लू पर्यटन स्थल शिमला हिमाचल प्रदेश :-

कुल्लू, मनाली के साथ मिलकर हिमाचल प्रदेश का एक लोकप्रिय पर्यटन स्थल है जो अपने मनोरम दृश्यों और देवदार के पेड़ों से ढकी राजसी पहाड़ियों के साथ एक खुली घाटी है। कुल्लू 1230 मीटर की ऊंचाई स्थित ऐसी जगह है जो प्रकृति प्रेमियों के लिए स्वर्ग के समान है। कुल्लू की हरियाली, प्राचीन नदी और एक अद्भुत जलवायु इसे बेहद खास बनाती है।

आमतौर पर हिमाचल आने वाले पर्यटक कुल्लू और मनाली दोनों जगह एक साथ घूमते है। कुल्लू और मनाली आने वाले यात्री यहाँ रिवर राफ्टिंग, ट्रेकिंग, पर्वतारोहण आदि जैसी कई साहसिक खेल गतिविधियों में हिस्सा ले सकते हैं। कुल्लू में रघुनाथ मंदिर और जगन्नाथी देवी मंदिर बहुत फेमस है, अगर आप यहां घूमने जाते हैं तो इन मंदिरों की सैर करना न भूलें।

पालमपुर हिमाचल प्रदेश :-

पालमपुर हिमाचल प्रदेश का बेहद खास पर्यटन स्थल है जो देवदार के जंगलों और चाय के बागानों से घिरा हुआ है। पालमपुर शहर में कई नदियाँ बहती हैं और यह शहर पानी और हरियाली के अद्भुत संगम के लिए भी जाना-जाता है। राजसी धौलाधार रेंजों के बीच स्थित पालमपुर अपने चाय बागानों और चाय की अच्छी गुणवत्ता के लिए दुनिया भर में प्रसिद्ध है।

पालमपुर को पहली बार अंग्रेजो द्वारा देखा गया था जिसके बाद इसे एक व्यापार और वाणिज्य के केंद्र के रूप में बदल दिया गया। इस शहर में स्थित विक्टोरियन शैली की हवेली और महल बेहद खूबसूरत नज़र आते हैं। अगर आप हिमाचल प्रदेश घूमने जा रहे है तो पालमपुर की सैर करना न भूलें।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news