ऑक्सीजन का लेवल कम होने पर कपूर, लौंग, अजवाइन सूंघना होता है फायदेमंद, जानें इस दावे का सच

ऑक्सीजन का लेवल कम होने पर कपूर, लौंग, अजवाइन सूंघना होता है फायदेमंद, जानें इस दावे का सच

कोरोना वायरस से बचने के लिए सरकार लोगों को घरों के अंदर ही रहने की सलाह दे रही है और मास्क लगाकर रखने को कह रही है।

कोरोना वायरस महामारी से इस समय पूरा देश जूझ रहा है और 24 घंटे में 3 लाख कोरोना के नए केस सामने आए हैं। कोरोना वायरस से बचने के लिए सरकार लोगों को घरों के अंदर ही रहने की सलाह दे रही है और मास्क लगाकर रखने को कह रही है।

इसी बीच एक देसी नुस्खा भी काफी वायरल हो रहा है। जिसके तहत लोगों को कपूर, लौंग, अजवाइन और नीलगिरी का तेल सूंघने को कहा जा रहा है।

कितना सच है ये दावा

इन दिनों सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म जैसे वाट्सअप, फेसबुक और ट्विटर पर इस पोटली का काफी जिक्र किया जा रहा है और लोगों से कहा जा रहा है कि वो अपने साथ ये पोटली जरूर रखें और समय समय पर इसे सूंघते रहे।

हालांकि इसी बीच काफी लोग ये भी दावा कर रहे हैं कि इन्हें नुस्खा घातक साबित हो सकता है और इन्हें सूंघने से अन्य रोग लग सकते हैं। इस चीजों पर कई सारे शोध किए गए हैं। जिसमें माना गया है कि इन चीजों का कोरोना वायरस से कोई लेना-देना नहीं है।

साइंस के अनुसार कपूर एक ज्वलनशील सफेद क्रिस्टलीय पदार्थ है। जिसमें तेज सुगंध होती है। दर्द और खुजली को दूर करने में ये कारगर होता है। कपूर बंद नाक को खोल देता है। जिसके कारण इसका प्रयोग थोड़ी सी मात्रा में विक्स वेपोरब में किया जाता है।

लेकिन बंद नाक खोलने में कपूर फायदेमंद है कि नहीं ऐसी कोई स्टडी मौजूद नहीं है। अभी तक ये दावा भी साबित नहीं हुआ है कि इसे सूंघकर शरीर में ऑक्सीजन का लेवल बढ़ता है। वहीं गैर-औषधीय कपूर को नुकसानदायक माना गया है।

लौंग, दालचीनी, जायफल और तुलसी में यौगिक यूजेनॉल मौजूद है। जो टॉक्सिसिटी का कारण है। लौंग से ऑक्सीजन लेवल को बढ़ाया जा सकता है।

ये बात अभी तक साबित नहीं हुआ है। इसी तरह से अजवाइन और नीलगिरी के तेल को लेकर कोई ऐसा शोध नहीं हुआ है। जिसमें ये दावा किया गया हो कि ये ऑक्सीजन लेवल को बढ़ाते हैं।

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news