किडनी सुरक्षित रखनी है तो यूटीआई को नजरअंदाज ना करें
हेल्थ 360°

किडनी सुरक्षित रखनी है तो यूटीआई को नजरअंदाज ना करें

यूटीआई की वजह से होने वाली अन्य जटिलताओं में शामिल है गर्भवती महिलाओं द्वारा सामान्य से कम वजन वाले बच्चे को जन्म देना अथवा समय से पहले ही नवजात का जन्म हो जाना।

Yoyocial News

Yoyocial News

इसलिए होती है समस्या : 

यूटीआई के लक्षणों में बार-बार और बहुत तेजी से यूरिन आना, बुखार, यूरिन से बहुत तेज गंध, यूरिन करते समय दर्द अथवा जलन का अहसास, मितली अथवा उल्टी आना, मांसपेशियों और पेट में दर्द महसूस होना आदि है।

मल्टीड्रग, रेजिस्टेंस वाला यूटीआई एंटीबायोटि्नस के गलत इस्तेमाल का परिणाम माना जाता है। यही वजह है कि इस संक्रमण को ओरल एंटीबायोटि्नस के जरिए ठीक करना कठिन होता है।

बिना जरूरत के एंटीबायोटि्नस का अनुपयु्नत इस्तेमाल किडनी डैमेज के लिए जिम्मेदार इंफे्नशन बढा सकता है.

महिलाओं में अधिक होता है यूटीआई का खतरा : 

महिलाओं में यूटीआई का संक्रमण पुरुषों की तुलना में अधिक होता है क्योकी महिलाओं का मूत्रमार्ग छोटा होता है। ऐसे में बै्नटीरिया आसानी से यूरिन की थैली तक पहुंच जाते हैं।

अगर यूटीआई का इलाज न हो तो यह क्रॉनिक किडनी इंफे्नशन फाइलोनेफ्राइटिस का कारण बन सकता है। जिन लोगों की यूरिन की थैली में लंबे समय तक कैथेटर ट्यूब लगा होता है उन्हें भी संक्रमण का खतरा अधिक रहता है।

कैथेटर पर जमा बै्नटीरिया आसानी से यूरिन की थैली में पहुंच सकते हैं और उसे संक्रमित कर सकते हैं। इससे बचने के लिए एक निश्चित अंतराल के बाद कैथेटर बदलने की सलाह दी जाती है।

यूटीआई की वजह से होने वाली अन्य जटिलताओं में शामिल है गर्भवती महिलाओं द्वारा सामान्य से कम वजन वाले बच्चे को जन्म देना अथवा समय से पहले ही नवजात का जन्म हो जाना।

बचाव के तरीके : 

- यूरिन को नहीं रोकना चाहिए. पङ्र्माप्त मात्रा में पानी पीना चाहिए।

- साफ टॉयलेट का प्रयोग करना चाहिए।

- कारींडे का जूस का सेवन यूरीन इंफे्नशन को रोकता है।

इसके अलावा डार्क चॉकलेट, ब्लैक टी जैसे एंटी ऑ्नसीडेंट, विटामिन सी यु्नत खाद्य पदार्थों का सेवन फायदेमंद है।

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news