कोरोना के खिलाफ जनता कर्फ्यू शुरू, बाजार-ट्रेन-बस-विमान सब बंद, PM ने कहा- 'जिस शहर में हैं, कुछ दिन वहीं गुजारें'
हेल्थ 360°

कोरोना के खिलाफ जनता कर्फ्यू शुरू, बाजार-ट्रेन-बस-विमान सब बंद, PM ने कहा- 'जिस शहर में हैं, कुछ दिन वहीं गुजारें'

उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने लोगों से घरों में ही रहने की अपील की है। यूपी के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी कोरोना जैसे विश्वव्यापी संकट को रोकने के लिए ऐसे अभियान को सफल बनाने की अपील की है.

Yoyocial News

Yoyocial News

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए शुक्रवार को देशवासियों से एकदिन का 'जनता कर्फ्यू' रखने की जो अपील की थी, उसका समय सुबह 7 बजे से शुरू हो चुका है. देश की हर राज्य की सरकार और प्रशासन इसे सफल बनाने के लिए कमर कसकर तैयार है. जनता ने भी सोशल मीडिया पर इस अभियान का जिस तरह स्वागत किया है उससे लगता है कि जनता भी कोरोना को फाइट देने के लिये इस अभियान में जी जान से तैयार है. ऐसा इसलिए किया जा रहा है, ताकि कोरोनावायरस के प्रसार को प्रभावी तरीके से रोका जा सके। उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने देश के लोगों से रविवार को अपने घरों में ही रहने की अपील की है। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी कोरोना जैसे विश्वव्यापी संकट को रोकने के लिए ऐसे अभियान को सफल बनाने की अपील की है.

हालाकि प्रशासन ने इस दौरानअनिवार्य सेवाओं को जारी रखने का निर्णय लिया है। कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए जनता कर्फ्यू के दिन रेल प्रशासन ने भी कई ट्रेनों को रद्द कर दिया है।

प्रधानमन्त्री ने सुबह सुबह ट्वीट कर इसे सफल बनाने की अपील की है.

PM की एक और अपील, यात्रा से बचें

इस बीच, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कोरोना वायरस को फैलने से रोकने के लिए एक बार फिर जनता से एक अहम अपील की है। उन्होंने लोगों से यात्रा करने से बचने की सलाह देते हुए कहा है कि वे जिस भी शहर में हैं, कुछ समय वहीं गुजारें तो अच्छा रहेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को ट्वीट कर कहा, "मेरी सबसे प्रार्थना है कि आप जिस शहर में हैं, कृपया कुछ दिन वहीं रहिए। इससे हम सब इस बीमारी को फैलने से रोक सकते हैं। रेलवे स्टेशनों, बस अड्डों पर भीड़ लगाकर हम अपनी सेहत के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं। कृपया अपनी और अपने परिवार की चिंता करिए, आवश्यक न हो तो अपने घर से बाहर न निकलिए।"उन्होंने एक और ट्वीट में कहा, "कोरोना के भय से मेरे बहुत से भाई-बहन जहां रोजी-रोटी कमाते हैं, उन शहरों को छोड़कर अपने गांवों की ओर लौट रहे हैं। भीड़भाड़ में यात्रा करने से इसके फैलने का खतरा बढ़ता है। आप जहां जा रहे हैं, वहां भी यह लोगों के लिए खतरा बनेगा। आपके गांव और परिवार की मुश्किलें भी बढ़ाएगा।"बता दें कि इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी 22 मार्च को जनता कर्फ्यू की अपील कर चुके हैं। रविवार को सुबह सात से रात नौ बजे तक जनता से घरों से बाहर न निकलने की अपील की है।

घरों में रहकर अपनी, दूसरों की देखभाल करें : उपराष्ट्रपति

उपराष्ट्रपति एम. वेंकैया नायडू ने शनिवार को देश के लोगों से रविवार को अपने घरों में ही रहने की अपील की है। ऐसा इसलिए किया जा रहा है, ताकि कोरोनावायरस के प्रसार को प्रभावी तरीके से रोका जा सके। उन्होंने कहा, "चूंकि वायरस शारीरिक संपर्क से फैलता है, इसलिए सामाजिक रूप से दूरी बनाकर रखें। वायरस के प्रसार को रोकने का यह एक प्रभावी तरीका है।"नायडू ने कहा कि "प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस रविवार को सामाजिक दूरी बनाकर रखने की अपील की है। यह तरीका अपनी तथा दूसरों की देखभाल करने के लिए एक प्रभावी माध्यम है। उन्होंने 'जनता कर्फ्यू' को अपनाने की अपील की, जिसके लिए हाल ही में प्रधानमंत्री मोदी ने भी लोगों को जागरूक किया था।"नायडू ने राजनीतिक दलों, सिविल सोसायटी संगठनों एवं अन्य सभी संबंधित पक्षों से इस चुनौती का सामूहिक रूप से मुकाबला करने की अपील की। उन्होंने कहा, "यह प्रत्येक नागरिक की जिम्मेदारी है कि वे इस चुनौती का मुकाबला करने की दिशा में दूसरों को शिक्षित एवं प्रोत्साहित करें।"

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशवासियों से रविवार 22 मार्च को स्वैच्छिक जनता कर्फ्यू की अपील की है। प्रधानमंत्री ने अपनी इस अपील में कहा, "साथियों मैं आज प्रत्येक देशवासी से एक और समर्थन मांग रहा हूं। ये है जनता कर्फ्यू। जनता कर्फ्यू यानी जनता के लिए, जनता द्वारा खुद पर लगाया गया कर्फ्यू। इस रविवार यानी 22 मार्च को सुबह सात बजे से रात नौ बजे तक सभी देशवासियों को जनता कर्फ्यू का पालन करना है। इस दौरान हम न घरों से बाहर निकलेंगे, न सड़क पर जाएंगे और न मोहल्ले में कहीं जाएंगे। सिर्फ आवश्यक सेवाओं से जुड़े लोग ही 22 मार्च को अपने घरों से बाहर निकलेंगे।"

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news