Heart Attack Symptoms: ये लक्षण दिखें तो समझ लें कि हृदय की नसें ब्लॉक हो गई हैं, कभी भी आ सकता अटैक

दिल के दौरे को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि हृदय को रक्त की आपूर्ति करने वाली धमनियां अवरुद्ध नहीं होती हैं। अगर धमनियों में कोई गड़बड़ी हो जाए तो यह हार्ट अटैक का कारण बनता है।
Heart Attack Symptoms: ये लक्षण दिखें तो समझ लें कि हृदय की नसें ब्लॉक हो गई हैं, कभी भी आ सकता अटैक

देश भर में हार्ट अटैक के मामले लगातार बढ़ रहे हैं. पिछले कुछ समय से कम उम्र में हार्ट अटैक से लोगों की जान जाने की खबरें भी लगातार बढ़ती जा रही हैं। इस तरह की घटनाओं से लोग सहमने लगे। क्‍योंकि कम उम्र में ही स्‍वस्‍थ दिखने वाले व्‍यक्ति को अचानक हार्ट अटैक आ जाता है और उसकी जान चली जाती है। 

दिल के दौरे को रोकने के लिए सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि हृदय को रक्त की आपूर्ति करने वाली धमनियां अवरुद्ध नहीं होती हैं। अगर धमनियों में कोई गड़बड़ी हो जाए तो यह हार्ट अटैक का कारण बनता है। जब दिल की धमनियां ब्लॉक हो जाती हैं तो शरीर में कुछ लक्षण दिखाई देते हैं। 

यदि हृदय की नसें अवरुद्ध हो जाती हैं, तो इससे छाती में भारीपन महसूस होता है। इसके अलावा थोड़ी सी मेहनत करने पर भी सांस फूलने लगती है। ऐसे में सीने में दर्द या बेचैनी भी होने लगती है।थोड़ा सा काम करने के बाद भी थकान महसूस होना, सांस फूलना, हृदय गति का बढ़ना यह संकेत हैं कि धमनियां ब्लॉक हो रही हैं। ऐसी स्थिति में हार्ट अटैक भी आ सकता है। 

इन लक्षणों का अनुभव करने वाले को तुरंत हृदय रोग विशेषज्ञ से संपर्क करना चाहिए। ब्लड प्रेशर डायबिटीज जैसी बीमारियों के बारे में भी जांच कराएं। इसके अलावा, यदि आपको सीने में दर्द या सांस लेने में तकलीफ महसूस होती है, तो तुरंत आपातकालीन चिकित्सा सहायता को कॉल करें। तुरंत अपना स्वास्थ्य परीक्षण कराएं। 

हृदय को स्वस्थ कैसे रखें? 

- दिल को स्वस्थ रखने के लिए कुछ बातों का विशेष ध्यान देना जरूरी है। मसलन, अगर तंबाकू या शराब की लत है तो उसे तुरंत छोड़ देना चाहिए। 

– मधुमेह, उच्च रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल जैसी समस्याएं हैं तो उन्हें नियंत्रण में रखने के लिए नियमित जांच कराएं। 

- तनाव से दूर रहें और नियमित रूप से सात से आठ घंटे की नींद लें।

– स्वस्थ भोजन का सेवन करना और नमक, वसा और मिठाई से परहेज करना। इसके अलावा जंक फूड का सेवन करने से बचें।

– वजन ज्यादा है तो उसे कंट्रोल में रखने के लिए नियमित व्यायाम करें। सप्ताह में कम से कम पांच दिन 35 से 45 मिनट व्यायाम करें।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news