अमेरिकी सीनेट में ग्रीन कार्ड से संबंधित बिल पास, भारतीय उत्साहित
Green Card

अमेरिकी सीनेट में ग्रीन कार्ड से संबंधित बिल पास, भारतीय उत्साहित

अमेरिकी सीनेट ने एक विधेयक पारित किया है जो हर देश को रोजगार आधारित स्थायी-निवास परमिट या अप्रवासियों को कानूनी रूप से जारी किए गए 'ग्रीन कार्ड' की संख्या निर्धारण को खत्म करता है, और संभावित रूप से इसे हासिल करने का मार्ग प्रशस्त करता है। इससे वे भारतीय खासे उत्साहित हैं जो दशकों से ग्रीन कार्ड पाने की जुगत में हैं।

कनेक्टिकट के स्टैमफोर्ड में रहने वाली एक भारतीय अपर्णा भटनागर जो हमेशा कतार में रही, इस मामले में प्रगति देखती है।

उन्होंने आईएएनएस से कहा, "इस वर्जन को सदन द्वारा पारित पिछले वर्जन के साथ सामंजस्य स्थापित करना है। इसे अभी भी एक लंबा रास्ता तय करना है और उस समय तक नई सरकार सत्ता संभाल लेगी। चलिए इंतजार करते हैं और देखते है कि आगे क्या होता है। "

'पिछला संस्करण' जिसे भटनागर संदर्भित करती है, वह 'फेयरनेस फॉर हाई-स्किल्ड इमिग्रेंट्स एक्ट' है जिसे 2019 में प्रतिनिधि सभा ने पास किया था।

बुधवार देर रात सीनेट ने जो पारित किया वह सीनेटर माइक ली (रिपब्लिकन, यूटा) द्वारा प्रायोजित एक कानून जैसा था, न कि ठीक वैसा जैसा सदन ने पास किया था।

सीनेट और सदन के बिलों के कॉम्बो वर्जन को व्हाइट हाउस को भेजे जाने से पहले सदन और सीनेट दोनों को पास करना होगा।

वर्तमान अमेरिकी नियम किसी भी देश को सभी रोजगार-आधारित ग्रीन कार्ड के 7 प्रतिशत तक सीमित करते हैं।

उन भारतीय की संख्या 600,000 से अधिक है, जिनकी कागजी कार्रवाई स्वीकृत है लेकिन प्रतीक्षा कर रहे हैं।

विदेश विभाग एक वर्ष में लगभग 140,000 ग्रीन कार्ड प्रदान करता है।

अटलांटा निवासी राशि भटनागर ने आईएएनएस से कहा, "सीनेट द्वारा लिया गया यह वास्तव में एक महान निर्णय है। लेकिन सदन को अतिरिक्त संशोधनों के साथ विधेयक पारित करना है।"

विभिन्न रिपब्लिकन सीनेटरों ने इसके वर्तमान स्वरूप में कानून का विरोध किया।

सीनेटर रैंड पॉल (रिपब्लिकन, केंटकी) ने फिलीपींस की नर्सों के लिए प्रावधान डाला है और एच 1 बी वीजा पर 50 प्रतिशत श्रमिकों को नियुक्त करने वाली फर्मों पर नए प्रतिबंध लगाने की मांग कर रहे हैं।

सीनेटर रिक स्कॉट (रिपब्लिकन, फ्लोरिडा) ने दो और प्रावधान जोड़े हैं, एच-1 बी वीजा पर अप्रवासियों की कुल संख्या पर अगले 10 वर्षों के लिए एक नई सीमा जो ग्रीन कार्ड प्राप्त कर सकते हैं और एक और प्रवाधान जो चीन से आव्रजन को हटा सकता है।

आव्रजन पर सदन न्यायपालिका उपसमिति की अध्यक्ष, प्रतिनिधि जोलोफग्रेन ने कहा, "जबकि मैं समाधान खोजने के लिए संघर्ष कर रहे सभी सदस्यों और सीनेटरों की निष्ठा समझती हूं, दुर्भाग्य से कल सीनेट द्वारा सदन को भेजे गए प्रावधान संभावना को सबसे अधिक बदतर बनाते हैं, बेहतर नहीं।"

सीनेट द्वारा बिल को सर्वसम्मति से पारित कर दिया गया। अमेरिका में स्किल्ड इमिग्रेंट्स (गैर-सरकारी संगठन) का नेतृत्व करने वाले अनिरबन दास ने कहा कि बिल लगभग फिनिश लाइन पर है। मुझे पूरी उम्मीद है कि प्रतिनिधि जो लोफग्रेन एक समझौता कर सकती हैं और अंत में इस बिल को पारित कर सकती हैं।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news