धरती पर करना है स्वर्ग का अहसास तो जरूर बनाए इस जगह पर जाने का प्लान, खूबसूरती देखते बनती है 'डलहौजी' की

गर्मियों में यहां पर घूमने बहुत ही यादगार और शानदार होता है। यदि आप हनीमून मनाने के सोच रहे हैं तो हमारे बताए गए हिल स्टेशननों में से किसी एक पर जरूर जाएं।
धरती पर करना है स्वर्ग का अहसास तो जरूर बनाए इस जगह पर जाने का प्लान, खूबसूरती देखते बनती है 'डलहौजी' की

भारत में पहाड़ियों की विशालतम, लंबी, सुंदर और अद्भुत श्रृंखलाएं हैं। एक और जहां विध्यांचल, सतपुड़ा की पहाड़ियां है, तो दूसरी ओर आरावली की पहाड़ियां।

कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी तक भारत में एक से एक शानदार पहाड़ हैं, पहाड़ों की श्रृंखलाएं हैं और सुंदर एवं मनोरम घाटियां हैं।

धरती पर करना है स्वर्ग का अहसास तो जरूर बनाए इस जगह पर जाने का प्लान, खूबसूरती देखते बनती है 'डलहौजी' की
केदारनाथ धाम: 'पंच केदार' की ऐसी अनोखी कहानी जब भूमि में समा गए थे शिव..

गर्मियों में यहां पर घूमने बहुत ही यादगार और शानदार होता है। यदि आप हनीमून मनाने के सोच रहे हैं तो हमारे बताए गए हिल स्टेशननों में से किसी एक पर जरूर जाएं। आओ इस बार जानते हैं भारत के टॉप हिल स्टेशनों में से एक डलहौजी हिल स्टेशन के बारे में रोचक जानकारी।

धरती पर करना है स्वर्ग का अहसास तो जरूर बनाए इस जगह पर जाने का प्लान, खूबसूरती देखते बनती है 'डलहौजी' की
Panch Kedar: जानें- पंच केदार मंदिरों के बारे में, महाभारत से जुड़ा है इतिहास

डलहौजी हिल स्टेशन :-

हिमाचल का खूबसूरत हिल स्टेशन :-

डलहौजी हिमाचल प्रदेश का खूबसूरत हिल स्टेशन है। ये जगह दिल्ली से 485 किमी दूर है और यहां का नजदीकी रेलवे स्टेशन पंजाब का पठानकोट है। पठानकोट से उतरकर बस या टैक्सी से आप यहां जा सकते हैं। कांगड़ा रेलवे स्टेशन से 18 किलोमीटर की दूरी पर स्थित हैं डलहौजी।

चंडीगढ़ होते हुए कांगड़ा पहुंच सकते हैं। यहां की दूरी चंडीगढ़ से 239 किमी, कुल्लू से 214 किमी और शिमला से 332 किमी है। चंबा यहां से 192 किलोमीटर दूर है।

धरती पर करना है स्वर्ग का अहसास तो जरूर बनाए इस जगह पर जाने का प्लान, खूबसूरती देखते बनती है 'डलहौजी' की
हरिद्वार घूमने का प्लान कर रहे तो जान लें इस दर्शनीय स्थल की कुछ खास-खास बातें

लॉर्ड डलहौजी के नाम पर रखा इसका नाम :-

इस जगह की खूबसूरती से प्रभावित होकर तत्कालीन अंग्रेज अफसर लॉर्ड डलहौजी ने इसे 18वीं सदी में वहां के राजा से खरीद लिया था और उसका नाम खुद के नाम पर ही रख दिया था।

धरती पर करना है स्वर्ग का अहसास तो जरूर बनाए इस जगह पर जाने का प्लान, खूबसूरती देखते बनती है 'डलहौजी' की
घूमने के शौकीन हैं तो लिस्ट में शामिल करें भरतपुर, दोस्तों के साथ लें प्राकृतिक सुंदरता का आनंद

खजीयार झील :-

डलहौजी से ढाई किमी दूर खजीयार झील है, जिसका आकार बेहद आकर्षक तश्तरीनुमा है। इसे देखना बहुत ही अद्भुत है।

पंजपुला :-

डलहौजी से 2 किमी दूर है-पुंजपुला यहां का नजारा देखने लायक होता है। यहाँ छोटे-छोटे पाँच पुलों के नीचे से बहता पानी पर्यटकों को अपनी ओर खींच लेता है। वहीं पास में खूबसूरत झरना भी है।

धरती पर करना है स्वर्ग का अहसास तो जरूर बनाए इस जगह पर जाने का प्लान, खूबसूरती देखते बनती है 'डलहौजी' की
जानिए चेन्नई को और करीब से, पढ़ें शहर के पाँच खूबसूरत डेस्टिनेशन्स के बारे में, जरूर जाएं घूमने

सुभाष बावली :-

यहां के जीपीओ से करीब डेढ़ किलोमीटर की दूरी पर स्थित है सुभाष बावली। आप यहां से बर्फ से ढंकी चोटियों देख सकते हैं।

बड़ा पत्थर :-

डलहौजी से मात्र 4 किलोमीटर की दूरी पर स्थित अहला गांव में भुलावनी माता का मंदिर है।

धरती पर करना है स्वर्ग का अहसास तो जरूर बनाए इस जगह पर जाने का प्लान, खूबसूरती देखते बनती है 'डलहौजी' की
पढ़ें गंगोत्री धाम की यात्रा और प्रमुख पर्यटन स्थल के बारे में

बकरोटा हिल्स :-

इस हिल्स पर से आप पहाड़ी वादियों का खूबसूरत नजरों का आनंद ले सकते हैं।

कालाटोप :-

करीब 9 किलोमीटर की दूरी पर स्थित कालाटोप में छोटीसी वाइल्ड लाइफ सेंचुरी है। यहां जंगली जानवरों को बहुत ही करीब से देखा जा सकता है।

धाइनकुंड :-

डलहौजी से करीब 10 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है धाइनकुंड। यहां से व्यास, चिनाब और रावी नदियों का विहंगम दृश्य दिखाई देता है।

धरती पर करना है स्वर्ग का अहसास तो जरूर बनाए इस जगह पर जाने का प्लान, खूबसूरती देखते बनती है 'डलहौजी' की
बाहर ही नहीं, भारत में भी हैं Adventures Destination, रखते है बड़ा जिगर तो जरूर घूम कर आइये इन जगहों पर

सतधारा :-

यहां के पानी को पवित्र माना जाता है। हालांकि इस पानी में कई तरह के खनिज पदार्थ होने की वजह से यह दवाई का काम करता है।

डायन कुंड :-

डायन कुंड इस पूरे इलाके की खूबसूरती में चार चांद लगा देती है।

किसी भी मौसम में जाएं :-

डलहौजी चंबा घाटी का हिस्सा है। सर्दी के मौसम में यहां बर्फ का मजा लिया जा सकता है। भयंकर गर्मी पड़ रही होती है तो यहां का तापमान भी 35 डिग्री तक पहुंच जाता है। यहां दर्जनों ऐसे स्थल है जो मन को सुकून देने वाले हैं। यहां आने का सबसे अच्छा समय अप्रैल से जून और सितंबर-अक्टूबर का माह होता है।

धरती पर करना है स्वर्ग का अहसास तो जरूर बनाए इस जगह पर जाने का प्लान, खूबसूरती देखते बनती है 'डलहौजी' की
अगर चाहते है शाही अंदाज़ में शादी करना तो पढ़ लें खबर, ये हैं भारत के 10 बेस्ट वेडिंग डेस्टिनेशन

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news