लखनऊ: जयपुरिया प्रबंधन संस्थान ने मनाया अपना 26वां स्थापना दिवस

इस शुभ दिन पर संस्थान ने अपने पूर्व छात्रों, छात्रों की माताओं और कोविड योद्धाओं को कोविड के बोझिल समय के दौरान अत्यधिक साहस दिखाने के लिए सम्मानित किया।
लखनऊ: जयपुरिया प्रबंधन संस्थान ने मनाया अपना 26वां स्थापना दिवस
Photos by Dheeraj Dhawan

जयपुरिया प्रबंधन संस्थान, लखनऊ ने अपना 26वां स्थापना दिवस 8 सितंबर 2021 को पुरे जोश से मनाया।

इस कार्यक्रम को मुख्य अतिथि श्री गुरुचरण दास (प्रसिद्ध लेखक और प्रबंधन गुरु पूर्व सीईओ प्रॉक्टर एंड गैंबल इंडिया) और गेस्ट ऑफ ऑनर एर कुमार केशव (प्रबंध निदेशक, उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड) ने अपनी उपस्थिति से शोभायमान किया।

इस शुभ दिन पर संस्थान ने अपने पूर्व छात्रों, छात्रों की माताओं और कोविड योद्धाओं को कोविड के बोझिल समय के दौरान अत्यधिक साहस दिखाने के लिए सम्मानित किया। संस्थान ने प्रशिक्षण विकास कार्यक्रमों में सेवाओं को उपलब्ध कराने के लिए प्लेसमेंट के अवसर देने वाले संगठनों व अपने मूल्यवान नियोक्ताओं को भी सम्मानित किया।

कार्यक्रम का आरंभ करते हुए डॉ. कविता पाठक (निदेशक, जयपुरिया लखनऊ) और सम्मानित अतिथियों द्वारा दीप प्रज्ज्वलित किया गया, जिसके बाद डॉ. पाठक ने अतिथियों को ग्रीन सर्टिफिकेट देकर सम्मानित किया।

डॉ कविता पाठक ने अपने बहुमूल्य विचारों को साझ करते हुए कहा कि संस्थान ने प्रबंधन सीखने की कमी को पुरा किया है और सभी महत्वपूर्ण क्षेत्रों में विकसित हुआ है। वह इस दिन को एक महत्वपूर्ण अवसर के रूप में मानते हुए सभी योगदानकर्ताओं और हितधारकों को उनकी अमुल्य सहायता के लिए धन्यवाद दिया।

साथ ही संस्थान द्वारा शुरू किए गए विभिन्न विलक्षण कार्यक्रमों जैसे प्रबंधन विकास कार्यक्रम, संकाय इंटर्नशिप कार्यक्रम, संकाय परामर्श कार्यक्रम, संकाय विकास कार्यक्रम पर गर्व करते हुए, उन्होंने समारोह में शामिल होने के लिए दर्शकों को धन्यवाद दिया।

श्री गुरुचरण दास (प्रसिद्ध लेखक और प्रबंधन गुरु पूर्व सीईओ प्रॉक्टर एंड गैंबल इंडिया) ने अपने विचारों को व्यक्त करते हुए कहा कि प्रबंधन गुरु वह होता है जो समझने में अच्छा होता है। मानवता की विशेषता है काम करने और क्रेडिट से ग्रस्त नहीं होना । डॉ दास ने दर्शकों के साथ अपनी प्रेरक कहानियां साझा की, जिन्होंने दर्शकों को विस्मित कर दिया। उनके विचार जैसे 'पैसा कमाना पैसा देना है', 'जीवन बनाना और सिर्फ जीविका नहीं बनाना' ने दर्शकों की सोच को उत्तेजित करा।

गेस्ट ऑफ ऑनर एर कुमार केशव (प्रबंध निदेशक, उत्तर प्रदेश मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन लिमिटेड) ने कहा की शैक्षणिक संस्थान हमें अपनी पसंद के क्षेत्र की योजना बनाने और अंततः संस्थान के योगदान के कारण भविष्य के नेता बनने में सक्षम बनाते हैं। भौतिक मूल्य होना बहुत महत्वपूर्ण है। जीवन को पूरी ईमानदारी के साथ जीना और खुश रहना, आंतरिक धैर्य रखना ही मूलमंत्र है। एलकेओ मेट्रो ने शहर को रहने लायक और काम करने लायक बना दिया। उन्होंने उन दो नई परियोजनाओं के बारे में भी बात की जो लागू होने जा रही हैं। बड़ी बुनियादी ढांचे वाली परियोजनाओं का प्रबंधन खुद में एक चुनौती है, इसी विचार के साथ उन्होने सभा का धन्यवाद किया।

भारी मन से संस्थान ने अपने उन 6 पूर्व छात्रों को याद किया जिन्हें उसने पिछले साल कोविड के कारण खो दिया था - सुश्री निहारिका गुप्ता, (पीजीडीएम बैच 2014-16), श्री पंकज शर्मा, (पीजीडीबीए बैच 2004-06), श्री विवेक अग्रवाल, (अंशकालिक पीजीडीबीए , बैच १९९६-९९), श्री नितेश श्रीवास्तव, (पीजीडीएम बैच २००९-११), सुश्री शीतल शर्मा, *पीजीडीएम बैच, २००९-११), श्री अमित अग्रवाल, अंशकालिक, (पीजीडीबीए, बैच २००१-०३)।

संस्थान के 2020-2022 बैच के मेधावी छात्रों को उनकी उत्कृष्ट शैक्षणिक प्रदर्शन के लिए 5000 / - के नकद पुरस्कार के साथ सम्मानित करा- आंशी मित्तल, अक्षय गट्टानी, श्रेया सोनी, रोहन अरोड़ा, अवनीत कौर खुराना, आयुषी अग्रवाल, शुभ्रा गोयल, समर्थ अग्रवाल, यशस्वी श्रीवास्तव, व्योम अग्रवाल, आनंद दीक्षित, मनस्वी श्रीवास्तव, गौरव पांडे , मुस्कान मिड्ढा और हिमांशु धवन।

संस्थान ने सुरक्षा गार्डों और हाउस कीपिंग स्टाफ- श्री प्रभात अस्थाना, श्री दीप प्रकाश, श्रीमती मीरा, श्रीमती साधना जी, श्री रिंकू, को भी उनकी समर्पित सेवाओं के लिए मान्यता दी और पुरस्कृत किया।

संस्थान ने डॉ. रीना अग्रवाल को सम्मानित किया, जिन्होंने महामारी के दौरान पूर्व छात्रों और वर्तमान छात्रों की टीम को लामबंद करके महामारी के दौरान जरूरतमंद लोगों के लिए एक सहायता प्रणाली बनाते हुए अनुकरणीय योगदान दिया।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news