Bigg Boss 15: तेजस्वी प्रकाश को हराकर प्रतीक सहजपाल ने जीता ‘टिकट टू फिनाले’ टास्क, वीआईपी जोन के बने सदस्य

Bigg Boss 15: तेजस्वी प्रकाश को हराकर प्रतीक सहजपाल ने जीता ‘टिकट टू फिनाले’ टास्क, वीआईपी जोन के बने सदस्य

वीआईपी सदस्य से डाउनग्रेड होने के बाद भी बिग बॉस ने तेजस्वी को टिकट टू फिनाले जीतकर फिर से वीआईपी जोन में जाने का एक और मौका दिया। हालांकि, इसके लिए प्रतीक राजपाल और तेजस्वी प्रकाश के बीच एक टास्क आयोजित किया गया।

टेलीविजन के चर्चित और विवादित रियलिटी शो में से एक बिग बॉस का 15वां सीजन लगातार दर्शकों का मनोरंजन कर रहा है। शो आपने फिनाले की ओर बढ़ रहा है। ऐसे में टिकट टू फिनाले हासिल करने के लिए सभी सदस्य एक- दूसरे को कड़ी टक्कर देते दिखाई दे रहे हैं। शो के बीते कई एपिसोड्स में दर्शकों को काफी दिलचस्प मोड़ देखने को मिल रहे हैं। ऐसे में हाल ही में घर की नई कैप्टन बनीं शमिता शेट्टी के एक फैसले ने एक बार शो को दिसचल्प बना दिया है। दरअसल, बुधवार को प्रसारित हुए एपिसोड बिग बॉस ने शमिता को यह अधिकार दिया कि वह वीआईपी सदस्यों में से किसी एक से टिकट टू फिनाले छीन कर उसे डाउनग्रेड कर सकती हैं।

ऐसे में शमिता ने अपने अधिकार का फायदा उठाते हुए तेजस्वी से टिकट टू फिनाले छीन लिया। इसके अलावा बिग बॉस में नॉन वीआईपी सदस्यों को भी यह अधिकार दिया कि वह आपसी सहमति से किसी एक सदस्य का नाम वीआईपी जोन में अपग्रेड करने के लिए तय कर सकते हैं। ऐसे में काफी बहस बाजी के बाद अंत में सभी नॉन वीआईपी सदस्यों ने अपग्रेड करने के लिए प्रतीक का नाम चुना।

वीआईपी सदस्य से डाउनग्रेड होने के बाद भी बिग बॉस ने तेजस्वी को टिकट टू फिनाले जीतकर फिर से वीआईपी जोन में जाने का एक और मौका दिया। हालांकि, इसके लिए प्रतीक राजपाल और तेजस्वी प्रकाश के बीच एक टास्क आयोजित किया गया। टास्क को जीतने वाले सदस्य को टिकट टू फिनाले जीतने का मौका मिला।

इसके लिए बिग बॉस ने प्रतीक और तेजस्वी को टास्क के तहत एक साइकिल शॉप बनाने को दी। इन साइकिल की सभी पार्ट्स उन्हें दुकानदार की भूमिका निभा रहे घरवालों से एकत्रित करने थे। बिग बॉस ने टास्क को समझाते हुए कहा कि घर वाले एक-एक करके दुकानदार बनेंगे और अपने पसंदीदा खिलाड़ी को साइकिल का पार्ट दे सकेंगे।

सबसे पहले करण कुंद्रा ने आगे आकर दुकानदार की भूमिका निभाई और साइकिल का एक टायर उन्होंने तेजस्वी को दे दिया। हालांकि, तेजस्वी को साइकिल बनाना नहीं आता था। इसलिए करण और निशांत उन्हें समझाते नजर आए। इस पर संचालक बनीं शमिता शेट्टी ने पहले तो मदद के लिए मना नहीं किया लेकिन जब उन्होंने देखा कि तेजस्वी कुछ नहीं कर पा रही तो खुद उन्होंने करण को अनुमति दी कि वह तेजस्वी की थोड़ी मदद करें।

इसके बाद दुकानदार बने निशांत भट्ट ने प्रतीक को साइकिल का एक टायर दिया। निशांत से टायर मिलते ही प्रतीक ने अपना काम शुरू किया। हालांकि टास्क में नया ट्विस्ट लेकर आए अभिजीत ने अपने दोस्त प्रतीक की बजाय तेजस्वी की मदद करते हुए उन्हें दूसरा टायर दे दिया। लेकिन इसके बाद भी तेजस्वी को कड़ी टक्कर देते हुए प्रतीक ने यह टास्क जीत कर टिकट टू फिनाले हासिल कर कर लिया।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.