inder kumar
inder kumar
मल्टीप्लेक्स

नेपोटिज्म के खिलाफ एक और आवाज... इंदर कुमार की पत्नी ने बताया कैसे शाहरुख-करण ने हर बार टाला और...

कई सारे ऐसे चेहरे हैं जो लंबे समय से नेपोटिस्म का शिकार हो रहे हैं लेकिन अब जाकर आवाज उठाई है. इनमें से ही एक नाम ही एक्टर इंदर कुमार का. इंदर की पत्नी ने बताया कि इंडस्ट्री में नेपोटिज्म का शिकार हुए थे।

Yoyocial News

Yoyocial News

कई सारे ऐसे चेहरे हैं जो लंबे समय से नेपोटिस्म का शिकार हो रहे हैं लेकिन अब जाकर आवाज उठाई है. इनमें से ही एक नाम ही एक्टर इंदर कुमार का, हालांकि इंदर कुमार अब इस दुनिया में नहीं हैं. बीते साल 2017 में कार्डियक अरेस्ट के चलते निधन हो गया था. इंदर कुमार ने 1990 में आई फिल्म ‘मासूम’ से अपने बॉलीवुड करियर की शुरुआत की थी. इंदर की पत्नी ने एक किस्सा शेयर किया है, जिसमें उन्होंने बताया कि, इंदर किस तरह फिल्म इंडस्ट्री में नेपोटिज्म का शिकार हुए थे.

आपको बता दें कि, अभिनेता इंदर कुमार की पत्नी पल्लवी ने निर्देशक करण जौहर और एक्टर शाहरुख खान दोनों पर बेहद गंभीर आरोप लगाए हैं और सरकार से इंडस्ट्री में मौजूद नेपोटिज्म के खिलाफ एक्शन लेने की बात भी कही है. पल्लवी का कहना है कि, करण जौहर और शाहरुख खान ने उनके पति इंदर कुमार को पहले काम का दिलासा दिया और बाद में उनका फोन नंबर तक ब्लॉक कर दिया.

शाहरुख खान से इंदर की मुलाकात को याद करते हुए पल्लवी लिखती हैं- इंदर के साथ ऐसा ही व्यवहार मिस्टर शाहरुख खान की ओर से किया गया. वे इंदर से मिले और कहा कि एक सप्ताह में कॉल करेंगे. फिलहाल कोई काम नहीं है. यह सब फिल्म 'जीरो' के सेट पर हुआ. बाद में उन्हें उनकी मैनेजर पूजा के संपर्क में बने रहने के लिए कहा गया, लेकिन उसने भी वही किया, जो गरिमा ने किया था.

आपको बता दें कि, इंदर कुमार ने तीन शादियां की थीं. 2003 में इंदर ने डायरेक्टर राज करिया की बेटी सोनल से शादी की थी, लेकिन पांच महीने बाद ही उनका तलाक हो गया. दोनों की खुशी नाम की एक बेटी है. दूसरी शादी 2009 में कमलजीत कौर नाम की लड़की से हुई, जो दो महीने बाद टूट गई. इसके बाद उन्होंने पल्लवी सराफ से तीसरी शादी की. दोनों की एक बेटी है, जिसका नाम सावन है.

पल्लवी ने बताया कि, "इन दिनों हर कोई वंशवाद की बात कर रहा है. सुशांत सिंह राजपूत की तरह मेरे पति ने भी अपने दम पर नाम कमाया था. 90 के दशक में वह अपने करियर के शीर्ष पर थे. मुझे याद है कि, निधन से पहले वे दो लोगों के पास काम मांगने गए थे. वह पहले से ही छोटे-मोटे प्रोजेक्ट कर रहे थे, लेकिन वह अपनी शुरुआत की तरह बड़ी फिल्में चाहते थे. वह करण जौहर के पास गए. मैं भी उनके साथ थी. मेरे सामने यह सब हुआ."

उन्होंने कहा कि, करण जौहर ने उन्हें अपनी वैन के बाहर करीब 2 घंटे इंतजार करवाया और फिर बुलाकर कहा कि, फिलहाल उनके पास इंदर के लिए कोई काम नहीं हैं, लेकिन वो उनकी मैनेजर गरिमा से टच में रहें. पल्लवी ने बताया, ''इस मुलाकात के करीब 15 दिन बाद तक तो हमारा फोन उठाया गया उसके बाद हमारे नंबर को ब्लॉक कर दिया गया.''

Keep up with what Is Happening!

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news