खुले में पेशाब करेंगे तो खैर नहीं, बजने लगेगा अलार्म

खुले में पेशाब करेंगे तो खैर नहीं, बजने लगेगा अलार्म

बिहार के पटना निवासी तीन छात्रों ने कोरोना की वजह से देश में लगे जनता कर्फ्यू के समय का सदुपयोग करके एक गजब डिवाइस तैयार कर दी। इन तीनों छात्रों के नाम प्रियांशु राज, प्रशांत और विवेक हैं। इनकी यह डिवाइस लोगों को स्वच्छता के प्रति जागरुक करती है।

बिहार (Bihar) के पटना (Patna) जिला के रहने वाले तीन छात्रों विवेक (Vivek) , प्रशांत (Prashant) और प्रियांशु राज (Priyanshu Raj) ने स्वच्छता के प्रति अपनी गहरी सोच का उदाहरण पेश किया है।

आपको बता दें स्वच्छ भारत, स्वस्थ्य भारत (clean India ,Healthy india) का नारा देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश के नागरिकों के लिए दिया है। पीएम मोदी के इस नारे को मूर्त रूप देने के प्रयासों में वर्तमान में पटना नगर निगम (Patna Municipal Corporation) जुटी हुई है।

पटना नगर निगम स्वच्छ्ता सर्वेक्षण 2021 (Sanitation Survey 2021) को लेकर स्वच्छता में अपनी रैंकिंग सुधारने की दिशा में लगातार कार्य कर रही है। दूसरी ओर पटना निगम का इस कार्य को करने में तीन प्रतिभाशाली छात्र प्रशांत, प्रियांशु राज और विवेक ने खास सहयोग कर दिया है।

जानकारी के अनुसार, इन तीनों छात्रों ने दो गजब की डिवाइस तैयार की हैं। इनमें से एक खुले में टॉयलेट करने पर टोकेगी तो दूसरी सार्वजनिक शौचालयों की सफाई रख-रखाव के बारे में सूचना देती रहेगी।

डिवाइस का निर्माण करने पर खर्च हुए मात्र 2200 रुपये

अनौखी डिवाइस को तैयार करने वाले छात्र प्रियांशु राज का कहना है कि जब भी कोई व्यक्ति खुले में पेशाब करता है तो यह डिवाइस आवाज करने लगती है। डिवाइस का निर्माण करने में केवल 2200 रुपये का खर्चा आया है।

वहीं दूसरी डिवाइस के कार्य इस प्रकार हैं। यह डिवाइस शौचालय का उपयोग करने के बाद हर फीडबैक वोटिंग के बाद दो सेकेंड के भीतर मशीन की स्क्रीन पर 4 सूचनाएं दिखाई देंगी। डिवाइस का संकेत होता है कि सारी प्रतिक्रिया सफलतापूर्वक हो गई है। यह भी जानकारी मिल जाएगी कि शौचालय साफ है या गंदा है।

पटना में इस डिवाइस को लगाने की मिली अनुमति

डिवाइस निर्माण में शामिल रहे छात्र विवेक ने बताया कि साथियों के सहयोग से तैयार इस डिवाइस को लेकर वे तीनों कुछ दिन पूर्व पटना नगर निगम के आयुक्त हिमांशु शर्मा और शीला ईरानी से मिले थे।

उस दौरान निगम के इन दोनों बड़े अधिकारियों ने बड़े ध्यान से हमारी इस डिवाइस को देखा, साथ ही डिवाइस की बारीकियां भी समझीं। इसके अधिकारियों ने हमारी डिवाइस को पास कर दिया और पटना शहर के सभी सार्वजनिक शौचालयों में इस डिवाइस को लगाने की अनुमति भी प्रदान कर दी।

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news