अरुणाचल प्रदेश में भाजपा ने तोड़े  JDU के 6 विधायक, जदयू ने कहा- गठबंधन धर्म का उल्लंघन
KC Tyagi

अरुणाचल प्रदेश में भाजपा ने तोड़े JDU के 6 विधायक, जदयू ने कहा- गठबंधन धर्म का उल्लंघन

अरुणाचल प्रदेश में बीजेपी द्वारा 6 विधायक तोड़े जाने के बावजूद नितीश कुमार ने कहा कि उन्हें फर्क नहीं पड़ता। JDU के केसी त्यागी ने BJP के इस कदम को गैरदोस्ताना करार देते हुए ये साफ कर दिया कि बिहार में NDA गठबंधन पर इसका कोई असर नहीं पड़ने वाला है।

भाजपा ने अरुणाचल प्रदेश में जनता दल यूनाइटेड (JDU) 6 विधायक तोड़कर उसे बड़ा झटका दिया है।

अरुणाचल प्रदेश में बीजेपी द्वारा 6 विधायक तोड़े जाने के बावजूद नीतीश कुमार ने कहा कि उन्हें फर्क नहीं पड़ता है। हलांकि जेडीयू के राष्ट्रीय प्रवक्ता केसी त्यागी ने बीजेपी के इस कदम को गैरदोस्ताना करार दिया लेकिन ये साफ कर दिया कि बिहार में एनडीए गठबंधन पर इसका कोई असर नहीं पड़ने वाला है।

जदयू के राष्ट्रीय महासचिव के.सी. त्यागी ने शुक्रवार को कहा कि अरुणाचल प्रदेश में जदयू के छह विधायकों के भाजपा में शामिल होने की खबर सुनकर वह स्तब्ध रह गए। त्यागी ने कहा कि अरुणाचल प्रदेश में भाजपा को ऐसा करने की कोई जरूरत नहीं थी।

हालांकि उन्होंने कहा कि राज्य में सरकार को कोई खतरा नहीं था फिर भाजपा ने ऐसा करके गठबंधन धर्म का उल्लंघन किया है।

उन्होंने कहा कि बिहार में भाजपा-जदयू गठबंधन की सरकार अच्छी तरह से काम कर रही है। उन्होंने स्पष्ट किया कि अरुणाचल प्रदेश में भाजपा की कार्रवाई का बिहार में कोई असर नहीं पड़ेगा।

आपको बता दें कि बिहार के चुनावी गठबंधन में हमेशा छोटे भाई की भूमिका में रहने वाली जेडीयू की सहयोगी बीजेपी ने इस बार के विधानसभा चुनाव में जेडीयू से कहीं ज्यादा सीटें जीतकर पहले ही उसके राजनीतिक कद को छोटा कर दिया है और अब बीजेपी ने जेडीयू को एक और झटका देते हुए अरुणाचल प्रदेश में उसके 6 विधायकों को अपने साथ मिला लिया है। यानि जेडीयू के 6 विधायकों ने बीजेपी का दामन थाम लिया है। अरुणाचल प्रदेश में नीतीश कुमार की पार्टी के 7 विधायक जीतकर आए थे जो सरकार का समर्थन कर रहे थे।

दूसरी ओर RJD नेता तेज प्रताप यादव ने भाजपा द्वारा अरुणाचल प्रदेश में जदयू के छह विधायकों को पार्टी में शामिल कराने पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा है कि पार्टी (जदयू) में टूट शुरू हो चुकी है और जल्द ही बिहार में भी इनका सफाया जल्द हो जाएगा। वहीं राजद के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी ने कहा है कि इसका संदेश स्पष्ट है कि अब भाजपा को नीतीश कुमार की कतई परवाह नहीं है। शिवानंद तिवारी ने कहा कि नीतीश कुमार साहस दिखाकर कोई फैसला लेते हैं तो हम उसका स्वागत करेंगे।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news