बिहार: नीतीश कुमार ने 16 नवंबर को बुलाई उच्चस्तरीय बैठक, जहरीली शराब से जुड़ा है मामला

बिहार में शराबबंदी के बावजूद सिर्फ छह दिन के अंदर जहरीली शराब पीने से हुईं 40 मौतों ने नीतीश सरकार को हिला कर रख दिया है। मौतों के आंकड़ों को देखते हुए खुद सीएम नीतीश कुमार एक्शन में आ गए हैं।
बिहार: नीतीश कुमार ने 16 नवंबर को बुलाई उच्चस्तरीय बैठक, जहरीली शराब से जुड़ा है मामला

बिहार में शराबबंदी के बावजूद सिर्फ छह दिन के अंदर जहरीली शराब पीने से हुईं 40 मौतों ने नीतीश सरकार को हिला कर रख दिया है। मौतों के आंकड़ों को देखते हुए खुद सीएम नीतीश कुमार एक्शन में आ गए हैं।

इसके बाद उन्होंने 16 नवंबर को बिहार में शराबबंदी पर उच्चस्तरीय बैठक बुला ली है। बिहार में पहले से ही शराब की बिक्री और उत्पादन पर प्रतिबंध है। ऐसे में माना जा रहा है कि सीएम नीतीश कुमार शराब माफियाओं पर बड़ी कार्रवाई का ऐलान कर सकते हैं।

बिहार में जहरीली शराब पीने से हुई मौतें अचानक से सामने आईं। दीपावली के एक दिन पहले ही यहां कुछ लोगों की मौत हुई, इसके बाद से सिवान, गोपालगंज, बेतिया, मुजफ्फरपुर, भागलपुर जैसे जिलों से मौत की खबरें सामने आने लगीं।

आंकड़ों को देखा जाए तो महज छह दिन के अंदर ही राज्य में जहरीली शराब से 40 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। इसके बाद प्रशासन ने भी लोगों से अपील की है कि अगर कहीं भी कोई बीमार है तो उसकी सूचना पुलिस को दी जाए।

शराबबंदी के बावजूद इतनी बड़ी संख्या में जहरीली शराब का कारोबार सामने आने के बाद पुलिस भी एक्शन में आ गई है। मौतों के बाद पुलिस ने कार्रवाई करते हुए कई जगहों पर छापेमारी की है।

इस छापेमारी में पुलिस ने अलग-अलग जगहों से करीब 280 लीटर देसी शराब बदामद की है। इस क्रम में तीन शराब कारोबारियों को गिरफ्तार भी किया गया है।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news