नीतीश ने नाव पर सवार होकर बाढ़ प्रभावित गांवों का लिया जायजा, लोगों का जाना हाल

मुख्यमंत्री मंगलवार को दरभंगा और मधुबनी जिले के बाढ़ प्रभवित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया। इसके बाद उन्होंने पानी से घिरे अदलपुर, सोहराव सहित कई गांवों में बोट से जाकर प्रभावित परिवारों का हाल जाना।
नीतीश ने नाव पर सवार होकर बाढ़ प्रभावित गांवों का लिया जायजा, लोगों का जाना हाल

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने मंगलवार को नाव पर सवार होकर बाढ़ प्रभावित गांवों का जायजा लिया और प्रभावित परिवारों का हाल जाना। उन्होंने कहा कि बाढ़ प्रभावित इलाकों में लोगों के रहने और भोजन के प्रबंध किए जा रहे हैं।

मुख्यमंत्री मंगलवार को दरभंगा और मधुबनी जिले के बाढ़ प्रभवित इलाकों का हवाई सर्वेक्षण किया। इसके बाद उन्होंने पानी से घिरे अदलपुर, सोहराव सहित कई गांवों में बोट से जाकर प्रभावित परिवारों का हाल जाना। इस दौरान राज्य के जलसंसाधन मंत्री संजय कुमार झा भी उनके साथ रहे।

पत्रकारों से चर्चा करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि बाढ़ राहत के लिए जो काम किया जा रहा है, प्रतिदिन इसका आकलन करते हैं और विभिन्न जिलों में जाकर देखते हैं।

उन्होंने कहा कि कुशेश्वर स्थान का कई क्षेत्र 6 महीने पानी से प्रभावित रहता है, इसके लिए योजना भी बनाई गई है। उन्होंने कहा कि इसपर काम किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि बिहार के लिए यह एक अलग किस्म का है।

मुख्यमंत्री इस बीच, बाबा कुशेश्वरनाथ महांदेव मंदिर में पूजा अर्चना की और राज्य की तरक्की, सुख, शांति और समृद्घि सहित बाढ़ से लोगों की मुक्ति दिलाने के लिए कामना की। पूजा अर्चना में मुख्यमंत्री ने मंदिर की परिक्रमा भी की।

उल्लेखनीय है कि राज्य के प्रमुख नदियों के जलस्तर में हुई वृद्घि के बाद 17 जिलों के 86 प्रखंडों में बाढ़ का पानी फैला हुआ है, जिससे करीब 32 लाख लोग प्रभवित हुए हैं। बाढ़ प्रभावित इलाकों में सरकार द्वारा राहत शिविर और सामुदायिक रसोई चलाई जा रही है। बाढ़ प्रभवित इलाकों में राहत और बचाव कार्य में एनडीआरएफ और एसडीआरएफ की टीमें लगी हुई हैं।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news