बिहार विधानसभा उपचुनाव में राजद-कांग्रेस में फंसा पेंच

बिहार में दो विधानसभा क्षेत्रों कुशेश्वरस्थान और तारापुर में होने वाले उपचुनाव को लेकर विपक्षी दलों के महागठंधन के दो प्रमुख घटक दल राष्ट्रीय जनता दल (राजद) और कांग्रेस आमने-सामने आ गए हैं।
बिहार विधानसभा उपचुनाव में राजद-कांग्रेस में फंसा पेंच

बिहार में दो विधानसभा क्षेत्रों कुशेश्वरस्थान और तारापुर में होने वाले उपचुनाव को लेकर विपक्षी दलों के महागठंधन के दो प्रमुख घटक दल राष्ट्रीय जनता दल (राजद) और कांग्रेस आमने-सामने आ गए हैं। दोनों विधानसभा क्षेत्रों से राजद ने अपने प्रत्याशी उतारने की घोषणा कर दी है, जबकि कांग्रेस ने कुशेश्वरस्थान पर अपना दावा ठोंका दिया है। इतना ही नहीं कांग्रेस ने कुशेश्वरस्थान की 'ग्राउंड रिपोर्ट' जानने के लिए एक कमेटी गठित कर दी है।

इन दोनों विधानसभा क्षेत्रों में 30 अक्टूबर को वोट डाले जाएंगे, जबकि दो नवंबर को परिणाम घोषित होगा। प्रत्याशी आठ अक्टूबर तक नामांकन का पर्चा दाखिल कर सकते हैं।

कुशेश्वरस्थान और तारापुर विधानसभा क्षेत्र से पिछले साल हुए विधानसभा चुनाव में जदयू के प्रत्याशी विजयी हुए थे। कुशेश्वरस्थान से विधायक शशिभूषण हजारी तथा तारापुर के विधायक मेवालाल चौधरी के निधन के बाद दोनों सीटों पर उपचुनाव हो रहा है।

पिछले विधानसभा चुनाव में परिणाम की बात करें तो कुशेश्वरस्थान से जदयू के प्रत्याशी हजारी ने कांग्रेस के प्रत्याशी अशोक कुमार को करीब सात हजार मतों से पराजित किया था जबकि तारापुर में जदयू के प्रत्याशी मेवालाल चैधरी ने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी राजद के दिव्या प्रकाश को 72225 मतों से पराजित किया था।

कांग्रेस पिछले चुनाव के आधार पर ही कुशेश्वरस्थान सीट पर अपना दावा ठोंक रही है। कांग्रेस ने कुशेश्वरस्थान में अपने उम्मीदवार के चयन के लिए एक कमेटी भी बना दी है। कमेटी 2 अक्टूबर तक अपनी रिपोर्ट प्रदेश अध्यक्ष मदन मोहन झा को सौंप देगी।

बिहार कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष समीर सिंह ने कहा कि पार्टी हर चुनाव से पहले इस तरह का सर्वे कराती है। पांच सदस्यीय कमेटी भी उपचुनाव को लेकर पार्टी की स्थिति का आकलन करेगी और अपनी रिपोर्ट अध्यक्ष को सौंपेगी।

इधर, राजद दोनो सीटों पर दावा ठोंक रही है। राजद के प्रवक्ता शक्ति सिंह यादव कहते हैं कि राजद ने रूप्ष्ट तौर पर कहा है कि हम दोनों सीटो ंपर चुनाव लडेंगे, महागठबंधन भी दोनों सीटों पर चुनाव लडेगी। नेतृत्व फैसला करेगा कि कौन सीट किसके हिस्से जाएगा।

उन्होंने कहा कि राजद महागठबंधन की सबसे बड़ी पार्टी है, इसलिए दोनों सीटों पर प्रत्याशी उतारेगी।

राजद के प्रवक्ता हालांकि नेतृत्व के फैसला करने की बात कहकर महागठबंधन में सीटों को लेकर किसी तरह के विवाद नहीं होने के संकेत भले ही दे रहे हों, लेकिन कांग्रेस के तेवर साफ बता रहे हैं कि कांग्रेस किसी भी हाल में कुशेश्वरस्थान की सीट को छोड़ने के मूड में नहीं है।

इधर, राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह कहते हैं कि दोनों सीटों पर प्रत्याशी राजद के अध्यक्ष लालू प्रसाद तय करेंगे। उन्होंने कहा कि कांग्रेस और राजद के आलाकमान के बीच संवाद चल रहा है। उन्होंने कहा कि राजद दोनों सीटों पर जीत दर्ज करने के लिए प्रतिबद्ध है।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.