बिहार में करीब 9 महीने बाद खुले स्कूल व शिक्षण संस्थान, खिल उठे छात्रों के चेहरे

बिहार में करीब 9 महीने बाद खुले स्कूल व शिक्षण संस्थान, खिल उठे छात्रों के चेहरे

बिहार में कोरोना महामारी आने के बाद से बंद स्कूल और शिक्षण संस्थानें सोमवार को खोल दिए गए हैं। फिलहाल राज्य के नौवीं से 12 वीं तक के स्कूल खोले गए हैं, जिससे राज्य के स्कूलों में करीब नौ महीने के बाद चहल-पहल देखी गई।

बिहार में कोरोना महामारी आने के बाद से बंद स्कूल और शिक्षण संस्थानें सोमवार को खोल दिए गए हैं। फिलहाल राज्य के नौवीं से 12 वीं तक के स्कूल खोले गए हैं, जिससे राज्य के स्कूलों में करीब नौ महीने के बाद चहल-पहल देखी गई।

बिहार सरकार से अनुमति मिलने के बाद पटना समेत राज्य के अन्य जिलों में सोमवार से सरकारी तथा निजी विद्यालयों, कोचिंग सहित अन्य शिक्षण संस्थानों में पठन-पाठन का कार्य शुरू हो गया है।

फिलहाल सरकार ने नौंवीं से 12वीं कक्षा तक के संचालन की अनुमति दी है, जिसमें 50 प्रतिशत छात्रों के ही आने की उपस्थिति रखने के निर्देश दिए गए हैं। हालांकि सोमवार को कई स्कूलों में 50 प्रतिशत की भी उपस्थिति नहीं देखी गई है।

शिक्षा विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि प्रत्येक स्कूलों के वर्गों में अभी आधी क्षमता की ही उपस्थिति रहेगी। स्कूल प्रशासन को कोरोना के गाइडलाइन को पूरी तरह पालन करना हेागा। स्कूल में प्रवेश के समय थर्मल स्कैनिंग से बच्चों के शरीर के तापमान की जांच की जा रही है। इसके साथ ही शारीरिक दूरी का भी ख्याल रखा जा रहा है।

सभी स्कूलों में सैनिटाइजर की व्यवस्था मुख्य गेट सहित अन्य स्थानों पर की गई है। सभी स्कूलों में बच्चों को मास्क पहनकर आना अनिवार्य किया गया है ।

उल्लेखनीय है कि मुख्य सचिव की अध्यक्षता में दिसंबर महीने में राज्य आपदा समूह की बैठक के बाद चार जनवरी से स्कूल खोलने का निर्णय लिया गया था। 24 दिसंबर को शिक्षा विभाग ने इसके लिए गाइडलाइन जारी किया था।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news