उत्तर भारत में शीतलहर का प्रकोप, दिल्ली में न्यूनतम तापमान लुढ़कर 3.6 डिग्री सेल्सियस

उत्तर भारत में शीतलहर का प्रकोप, दिल्ली में न्यूनतम तापमान लुढ़कर 3.6 डिग्री सेल्सियस

हरियाणा और पंजाब के कई हिस्सों में पिछले कुछ दिनों से जारी शीत लहर मंगलवार को और तेज हो गई। जबकि राजस्थान में तेज और ठंडी हवाओं के असर से तापमान में गिरावट दर्ज की गई।

उत्तर भारत में कड़ाके की ठंड पड़ रही है। पहाड़ी क्षेत्रों में ताजा बर्फबारी के बाद उत्तर भारत में शीतलहर का प्रकोप और बढ़ गया। राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में न्यूनतम तापमान लुढ़कर 3.6 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया। हरियाणा और पंजाब के कई हिस्सों में पिछले कुछ दिनों से जारी शीत लहर मंगलवार को और तेज हो गई। जबकि राजस्थान में तेज और ठंडी हवाओं के असर से तापमान में गिरावट दर्ज की गई। उधर, हिमाचल प्रदेश में शीतलहर में जबरदस्त बढ़ोत्तरी हुई। कश्मीर में हल्की बर्फबारी से पर्यटकों में उत्साह देखा गया। भारत मौसम विज्ञान विभाग के अनुसार, पश्चिमी विक्षोभ के कारण जम्मू कश्मीर, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में जगह जगह हिमपात हुआ।

मौसम विभाग के मुताबिक 29 दिसंबर से लेकर 3 जनवरी के बीच में तेज से लेकर भीषण शीतलहर (Cold wave) चलने की संभावना है। इसमें भी 31 दिसंबर को ज्यादा शीतलहर चलने का अनुमान है। भारतीय मौसम विभाग (India Meteorological Department) ने इस दौरान न्यूनतम तापमान 3-4 डिग्री सेल्सियस तक पहुंचने की संभावना व्यक्त की है। इसको लेकर लोगों को अलर्ट भी किया जा रहा है। नए साल में ठंड से विशेष सतर्कता बरतने की बात कही जा रही है।

भारतीय मौसम विभाग (IMD) के क्षेत्रीय प्रमुख कुलदीप श्रीवास्तव के मुताबिक दिल्ली में 29 दिसंबर से ही शीतलहर की स्थिति शुरू हो जाएगी और 31 दिसंबर तक जारी रहेगी।

31 दिसंबर की सुबह दिल्ली में न्यूनतम तापमान 3 डिग्री सेल्सियस तक गिर सकता है। 1 जनवरी से राष्ट्रीय राजधानी में तापमान बढ़ेगा। विभाग के मुताबिक शीतलहर 3 जनवरी तक चल सकती है।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news