दिल्ली के आकाश हेल्थकेयर ने फिर लगाई 250 मरीजों के लिए ऑक्सीजन की गुहार

दिल्ली के आकाश हेल्थकेयर ने फिर लगाई 250 मरीजों के लिए ऑक्सीजन की गुहार

दिल्ली स्थित आकाश हेल्थकेयर सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल ने रविवार को 250 मरीजों की जान बचाने के लिए ऑक्सीजन मुहैया कराने के लिए सरकार से मदद मांगी, जहां केवल एक घंटे की ऑक्सीजन बची है।

दिल्ली स्थित आकाश हेल्थकेयर सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल ने रविवार को 250 मरीजों की जान बचाने के लिए ऑक्सीजन मुहैया कराने के लिए सरकार से मदद मांगी, जहां केवल एक घंटे की ऑक्सीजन बची है। अस्पताल ने अपने ट्विटर हैंडल पर एक एसओएस संदेश के माध्यम से दिल्ली सरकार और केंद्र से मदद मांगी।

अस्पताल के ट्विटर हैंडल से एक ट्वीट किया गया, "मदद के लिए गुहार: पूरे दिन कोशिश करने के बाद केवल पांच ऑक्सीजन सिलेंडर मिले, 250 से ज्यादा मरीजों की जान बचाने के लिए 60 मिनट से अधिक नहीं बचे हैं। कालकाजी के ट्राइटन अस्पताल की डॉ दिपाली गुप्ता ने कहा कि वे उनके नवजात शिशुओं संबंधी गहन देखभाल कक्ष (एनआईसीयू) के लिए ऑक्सीजन का प्रबंधन करने में संघर्ष कर रहे हैं।"

आकाश हेल्थकेयर सुपर स्पेशलिटी अस्पताल दिल्ली के द्वारका में है।

इससे पहले दिन में मधुकर रेनबो चिल्ड्रन अस्पताल ने रविवार को अपने यहां ऑक्सीजन का भंडार समाप्त होने का संदेश दिया और कहा कि दक्षिणी क्षेत्र में शहर का एकमात्र अस्पताल होने का दावा करने के बावजूद नियमित रूप से ऑक्सीजन की कमी के बारे में जानकारी दी थी, जो कोविड-19 से संक्रमित गर्भवती महिलाओं को स्वीकार कर रहा है।

130 बेड के अस्पताल ने अपने ट्विटर हैंडल के माध्यम से दिन में 12 बजे दोपहर तक ऑक्सीजन की उपलब्धता के बाद एसओएस संदेश भेजा। दक्षिणी दिल्ली के मालवीय नगर क्षेत्र में स्थित, अस्पताल में वर्तमान में 80-90 कोविड रोगी हैं, जिनमें गर्भवती महिलाएं और बच्चे शामिल हैं।

एक घंटे से अधिक समय तक मेडिकल ऑक्सीजन की कमी ने दिल्ली के बत्रा अस्पताल में शनिवार दोपहर 12 कोविड मरीजों की जिंदगी के लिए गुहार लगाई, जिसमें एक डॉक्टर भी शामिल थे।

Keep up with what Is Happening!

No stories found.
Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news