दिल्ली: अरविंद केजरीवाल ने की प्राइवेट स्कूलों के साथ बैठक, जल्द शुरू होगी नर्सरी दाखिले की प्रक्रिया

दिल्ली: अरविंद केजरीवाल ने की प्राइवेट स्कूलों के साथ बैठक, जल्द शुरू होगी नर्सरी दाखिले की प्रक्रिया

प्राइवेट स्कूलों के साथ हुई बैठक के उपरांत मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, "शैक्षणिक सत्र 2021-22 के लिए नर्सरी स्कूलों में दाखिले की प्रक्रिया जल्द शुरू होगी।"

दिल्ली में नर्सरी दाखिले की प्रक्रिया जल्द शुरू हो सकती है। मंगलवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और विभिन्न प्राईवेट विद्यालयों के प्रधानाचार्यों एवं प्रबंधन समिति के बीच एक बैठक हुई।

इस बैठक के उपरांत दिल्ली सरकार द्वारा कहा गया कि शैक्षणिक सत्र 2021-22 के लिए नर्सरी स्कूलों में दाखिले की प्रक्रिया जल्द शुरू होगी।

प्राइवेट स्कूलों के साथ हुई बैठक के उपरांत मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा, "शैक्षणिक सत्र 2021-22 के लिए नर्सरी स्कूलों में दाखिले की प्रक्रिया जल्द शुरू होगी।"

मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल और उपमुख्यमंत्री एवं शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया ने 'एक्शन कमिटी गैर सहायता प्राप्त प्राइवेट मान्यता प्राप्त स्कूल' संगठनों के साथ दिल्ली सचिवालय के ऑडिटोरियम में शिष्टाचार बैठक की। एक्शन कमिटी एक बड़ा संगठन है और दिल्ली के करीब एक हजार मान्यता प्राप्त प्राइवेट विद्यालय इसके सदस्य हैं।

इस दौरान मौजूद उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि मानसिकता का विकास गुणवत्तापूर्ण शिक्षा का महत्वपूर्ण हिस्सा बने। सरकारी और प्राइवेट स्कूल साथ मिलकर दिल्ली के बच्चों को ईमानदार, पेशेवर और भावनात्मक रूप से मजबूत बनाने का काम करेंगे।

यह बैठक शिक्षा में सुधार के लिए साथ मिल कर काम करने के उद्देश्य से आयोजित की गई थी। केजरीवाल ने प्राइवेट स्कूलों के लिए स्वायत्तता की हिमायत की है, लेकिन साथ ही कहा है कि बच्चों के साथ होने वाले किसी भी अन्याय के वह सख्त खिलाफ है।

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा, "सभी दिल्ली वासियों के बेहतर शिक्षा पाने के सपनों को पूरा करना हमारा लक्ष्य है। सरकारी और प्राइवेट स्कूल दिल्ली शिक्षा की दो बांहे हैं।

दिल्ली की शिक्षा व्यवस्था को विश्व स्तर पर सर्वश्रेष्ठ बनाने के लिए प्राइवेट और सरकारी विद्यालयों को साथ मिल कर काम करने की जरूरत है। दिल्ली सरकार प्राइवेट स्कूलों के स्वायत्तता की हिमायती है, लेकिन बच्चों के साथ होने वाले किसी भी अन्याय के सख्त खिलाफ है।"

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि आम आदमी पार्टी की दिल्ली सरकार के लिए शिक्षा सबसे पहली प्राथमिकताओं में शामिल है। सरकार में आते ही हमने दिल्ली के बदहाल पड़े सरकारी स्कूलों और सरकारी अस्पतालों को सुधारने का काम किया।

दिल्ली सरकार ने पिछले 6 सालों में उन मूलभूत चीजों पर काम करना शुरू किया, जो आम आदमी के जीवन में काफी महत्वपूर्ण हैं और इसमें शिक्षा सबसे ऊपर है।

Keep up with what Is Happening!

AD
No stories found.
Best hindi news platform for youth
www.yoyocial.news