यौन उत्पीड़न के मामलों में कार्रवाई करेगा दिल्ली विश्वविद्यालय

दिल्ली विश्वविद्यालय कार्यकारी परिषद के सदस्य अशोक अग्रवाल ने आईएएनएस से कहा विश्वविद्यालय की महिला कर्मचारियों ने जिन व्यक्तियों पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए हैं उनमें से सात मामले कार्यकारी परिषद के समक्ष रखे गए।
यौन उत्पीड़न के मामलों में कार्रवाई करेगा दिल्ली विश्वविद्यालय

दिल्ली विश्वविद्यालय के समक्ष यौन उत्पीड़न के सात मामले सुनवाई के लिए रखे गए। विश्व विद्यालय की कार्यकारी परिषद ने यौन उत्पीड़न के 6 आरोपियों को कड़ी चेतावनी जारी करने का निर्णय लिया है जबकि विश्वविद्यालय के एक कर्मचारी के खिलाफ दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी।

दिल्ली विश्वविद्यालय कार्यकारी परिषद के सदस्य अशोक अग्रवाल ने से कहा विश्वविद्यालय की महिला कर्मचारियों ने जिन व्यक्तियों पर यौन उत्पीड़न के आरोप लगाए हैं उनमें से सात मामले कार्यकारी परिषद के समक्ष रखे गए।

कार्यकारी परिषद ने इनमें से छह आरोपियों को चेतावनी जारी करने का सुझाव दिया है। यौन उत्पीड़न के मामलों में विश्वविद्यालय के एक आरोपी कर्मचारी के खिलाफ सख्त कार्रवाई की सिफारिश की गई है। हालांकि यह आरोपी राहत के लिए हाईकोर्ट जा चुके हैं, फिर भी यूनिवर्सिटी इनके खिलाफ कार्रवाई करेगी।

दिल्ली विश्वविद्यालय में निर्णय लेने वाली सबसे महत्वपूर्ण संस्था 'एग्जीक्यूटिव काउंसिल' की 31 अगस्त को हुई बैठक में 4 वर्षीय अंडर ग्रेजुएट पाठ्यक्रम को मंजूरी दे दी गई है। बैठक के दौरान दिल्ली विश्वविद्यालय एग्जीक्यूटिव काउंसिल के कई सदस्यों ने इसपर अपना विरोध भी दर्ज कराया। हालांकि बहुमत से 4 वर्षीय अंडर ग्रेजुएट पाठ्यक्रम को मंजूरी मिल गई है। यह पाठ्यक्रम अगले सत्र से लागू किया जाएगा।

'एग्जीक्यूटिव काउंसिल' में चार वर्षीय स्नातक कार्यक्रम (एफवाईयूपी) सहित राष्ट्रीय शिक्षा नीति (एनईपी) के तहत कई सुधारों को मंजूरी दी गई है।

दिल्ली विश्वविद्यालय में चरणबद्ध तरीके से कैंपस गतिविधियों को शुरू करने की योजना भी बनाई जा रही है। इसके लिए विश्वविद्यालय में एक उच्च स्तरीय बैठक भी की है।

दिल्ली विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर पीसी जोशी ने कहा कि दिल्ली विश्वविद्यालय में न केवल दिल्ली बल्कि देश भर से और विदेशों से भी छात्र आते हैं। हमें इस पर विचार करना होगा कि उन्हें कैसे शामिल किया जाएगा।

प्रोफेसर पीसी जोशी ने दिल्ली डिजास्टर मैनेजमेंट कमेटी यानी डीडीएमए की सलाह का स्वागत किया है। डीडीएमए ने दिल्ली में स्कूल कॉलेज खोले जाने की सिफारिश की है। प्रोफेसर पीसी जोशी ने कहा कि विश्विद्यालय डीडीएमए की सलाह का स्वागत करता है। इससे हमें चरणबद्ध तरीके से विश्वविद्यालय को फिर से खोलने में मदद मिली है।

Keep up with what Is Happening!

Related Stories

No stories found.
Best hindi news platform for youth. हिंदी ख़बरों की सबसे तेज़ वेब्साईट
www.yoyocial.news